जाट के बाद दलित भी बन गए अमित शाह के लिए दर्द सर

0
45

करनाल: हिरयाणा में भाजपा से नाराज़ जाट समुदाय को मनाने के लिए बाइक रैली निकालने की कोशिश में लगे अमित शाह के लिए नई मिश्किल दस्तक दे चुकी है ,जिस से बीजेपी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिती बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की बाइक रैली का रास्ता रोकने की तैयारी कर रही है। तो अब दूसरी और जाटों के साथ-साथ दलित संगठन भी सामने आ गया है। अब दलित वर्ग ने भी अमित शाह का काले झंडे दिखाने का मन बना लिया है।हरियाणा में अमित शाह की रैली को लेकर विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। विपक्ष और जाट समाज के विरोध के साथ-साथ अब दलित वर्ग ने भी अमित शाह को काले झंड़े दिखाने की ठान ली है। इसी कड़ी में करनाल में तमाम दलित संगठनों के पदाधिकारियों ने इकट्ठा हो आने वाली 15 फरवरी को अमित शाह की रैली में काले झंडे दिखाने का फैसला किया है।

दलित प्रधान राकेश निम्बरना ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री बार-बार संविधान बदलने की बात बोलते हैं तो हम यह जाना चाहता है कि वह इस संविधान में क्या बदलाव करना चाहते हैं और वह आरक्षण को लेकर अपनी मंशा जाहिर करें.

वहीँ अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय महासचिव अशोक बलहारा ने बताया की रैली का विरोध करने के लिए तैयारियाँ शुरू कर दी गयी है. क़रीब 750 ट्रैक्टर ने रेजिस्ट्रेशन कराया है. इसके अलावा प्रदेश के सभी जिलो में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया चल रही है. हम 15 फ़रवरी को जींद के 7 मुख्य रास्तों पर बच्चे और महिलाओं के साथ ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर पहुंचेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here