BJP से TDP का ब्रेकअप ,मंत्रीयों ने दिया इस्तीफा,कांग्रेस के निशाने पर पीएम मोदी

0
34

नई दिल्ली :केंद्र की भाजपा सरकार ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया है। विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने के इनकार के बाद तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से नाता तोड़ दिया है। वहीं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और टीडीपी के नेता चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया है कि पीएम ने उन्हें मिलने का वक्त नहीं दिया। उनके फोन का जवाब नहीं दिया। नायडू ने देर रात बीजेपी से नाता तोड़ लिया है। दूसरी ओर, केंद्र सरकार और टीडीपी के बीच बढ़ते खटास को कम करने के लिए बीजेपी महासचिव राम माधव ने मोर्चा संभाल लिया है. राम माधव खुद एक तेुलगू भाषी हैं और गुंटूर जिले से आते हैं.

वह बीजेपी की ओर पूरे विवाद को सुलझाने की कोशिश में जुट गए हैं.सूत्रों की मानें तो केंद्रीय मंत्री अशोक गणपति राजू और वाई एस चौधरी आज लोकसभा और राज्यसभा में बयान दे सकते हैं. जिसके बाद वह अपना इस्तीफा सौंपेंगे. इसके बावजूद टीडीपी सांसद अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे.हालांकि, टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू इस मसले पर गुरुवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे. बताया जा रहा है कि पीएम से बात होने के बाद ही नायडू अपने मंत्रियों को फाइनल आदेश देंगे. यानी प्रधानमंत्री से नायडू की बात होने के बाद ही दोनों मंत्री के इस्तीफे का एलान होगा

 

. बता दें कि मोदी कैबिनेट में टीडीपी के अशोक गजपति राजू और वाई एस चौधरी शामिल हैं.बता दें कि कांग्रेस पार्टी पूर्व अध्यक्ष और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने 13 मार्च को विपक्ष दल की बैठक बुलाई है। इस बैठक के लिए टीडीपी को भी न्योता भेजा गया है, जहां कई विपक्षी दलों के आने की संभावना जताई गई है।दूसरी ओर, केंद्र सरकार के फैसले से नाराज टीडीपी के कोटे से मोदी कैबिनेट में शामिल दोनों मंत्री गुरुवार की सुबह इस्तीफा देने की बात कही है। वहीं आंध्र प्रदेश सरकार में शामिल बीजेपी के दो विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here