पेट्रोल की बढ़ती क़ीमत पर भाजपा के मंत्री के बयान ने जनता को शर्मिंदा कर दिया

0
101

जयपुर : राजस्थान के देवस्थान विभाग राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा (Rajkumar Rinwa) ने लोगों को सलाह दी कि अगर पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं तो उन्हें अपने खर्च में कटौती करनी चाहिए. रिणवा ने कहा कि ईंधन कीमतें विश्व बाजार से नियंत्रित होती हैं और इससे सरकार का कोई लेना देना नहीं, फिर भी प्रयास किए जा रहे हैं. बता दें कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर वैट में रविवार को 4 प्रतिशत की कमी की, ताकि लोगों को कुछ राहत मिले. वहीं कांग्रेस ने ईंधन की बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को कांग्रेस ने भारत बंद बुलाया था.सीकर में मीडियाकर्मियों से बातचीत में रिणवा ने कहा कि वर्ल्ड मार्केट में क्रूड के दाम के हिसाब से सब चलता है.

सरकार अपने स्‍तर पर कोशिश कर रही है। इतने खर्चे हैं, चारों तरफ बाढ़ आई हुई है, जिससे खपत भी ज्यादा हो रही है। जनता समझती नहीं है कि क्रूड के दाम बढ़ गए हैं तो कुछ खर्चे कम कर दे।राजकुमार रिणवा ने कहा, ‘वैश्विक बाजार में जो कच्चे तेल का दाम होता है उसे हिसाब से पेट्रोल-डीजल के दाम तय होते हैं, सरकार कोशिश कर रही है। यही नहीं मंत्री ने आगे कहा, इतने खर्चे हैं, बाढ़ है चारों तरफ, इतनी खपत है। जनता समझती नहीं है कि कच्चे तेल के दाम बढ़ गए हैं तो कुछ खर्चे कम कर दें।बता दें कि इस समय पेट्रोल-डीजल के दाम सोमवार को भी कीमतों में इजाफा जारी है। कई शहरों में 80 रुपये प्रति लीटर से अधिक में बिक रहा पेट्रोल महाराष्ट्र के परभणी जिले में 90 के करीब पहुंचने वाला है। फिलहाल पेट्रोल यहां 89.97 रुपये लीटर में बिक रहा है।


बता दें कि तेल की बढ़ती कीमतों और रुपए में जारी गिरावट ने कांग्रेस को मोदी सरकार पर हमला करने का एक सुनहरा मौका दिया है. इन दोनों मुद्दों को भुनाने के मकसद से कांग्रेस ने आज भारत बंद का आह्वान किया है. इस बंद में कांग्रेस समेत 21 पार्टियां शामिल हुई हैं.दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80.73 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई है. वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 88.12 रुपए प्रति लीटर हो गई है. लगातार पांचवे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़त दर्ज की गई है. एक तरफ जहां दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 0.23 पैसे प्रति लीटर की बढ़त हुई है वहीं डीजल की कीमत में 0.22 पैसे का इजाफा हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here