गुजरात चुनाव में कांग्रेस की सत्ता वापसी संभव:सर्वे

main slider, देश

नई दिल्ली. गुजरात में 9 दिसंबर और 14 दिसंबर को दो चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं. राज्य में सत्ताधारी पार्टी बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर चल रही है.एक मशहूर टीवी के ओपिनियम पोल के मुताबिक विधानसभा चुनाव में बीजेपी एक बार फिर सत्ता में लौट सकती है और उसे 95 सीटें मिल सकती है जबकि कांग्रेस 82 सीटों पर कब्जा जमा सकती है. ऐसे में अगर सीटों का ये अंतर और घटा तो ओपिनियम पोल के मुताबिक कांग्रेस भी गुजरात में वापसी कर सकती है.बात अगर दोनों पार्टियों के वोट शेयर की करें तो ओपनियम पोल के मुताबिक बीजेपी और कांग्रेस दोनों को 43-43 फीसदी वोट मिल सकते हैं जबकि 14 फीसदी वोट अन्य के खाते में जा सकता है.बात अगर गुजरात के सौराष्ट्र-कच्छ के शहरी क्षेत्रों की करें तो ओपनियन पोल के मुताबिक यहां बीजेपी कांग्रेस को काफी पीछे छोड़ रही है.अगर उत्तर गुजरात की बात करें तो ओपिनियन पोल के मुताबिक बीजेपी को यहां करारा झटका लगा है. इस इलाके में कांग्रेस ने बीजेपी पर 4 फीसदी वोटों की बढ़त बनाकर रखी है.अब अगर दक्षिण गुजरात को देखें तो यहां विधानसभा की कुल 35 सीटें है. यहां के ग्रामीण इलाकों में बीजेपी कांग्रेस से आगे दिख रही है.दक्षिण गुजरात के शहरी इलाकों में बीजेपी कांग्रेस से पिछड़ती नजर आ रही है. कांग्रेस को जहां 43 फीसदी वोट मिलने की संभावना जताई गई है वहीं बीजेपी को सिर्फ 36 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है.बात अगर मध्य गुजरात की करें तो यहां विधानसभा की 40 सीटें हैं. मध्य गुजरात में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मात्र 1 फीसदी वोट का अंतर दिख रहा है. बीजेपी को जहां 41 फीसदी वोट मिल सकता है वहीं कांग्रेस को 40 फीसदी वोट मिलने की संभावना है. हालांकि मध्य गुजरात के ग्रामीण इलाके में कांग्रेस आगे हैं और उसे 47 फीसदी वोट मिल सकते हैं जबकि बीजेपी को सिर्फ 43 फीसदी वोट मिलने की ही संभावना जताई गई है.खासबात यह है कि ओपनियन पोल के मुताबिक राज्य में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की लोकप्रियता में भी कमी आई है. अगस्त में हार्दिक की लोकप्रियता 61% थी जबकि अक्टूबर में 64% और नवंबर में यह घटकर 58% रह गई है. यह ओपिनियन पोल एबीपी न्यूज के लिए सर्वे एजेंसी लोकनीति और सीएसडीएस ने 23 से 30 नवंबर के बीच 50 विधानसभा क्षेत्रों के 200 बूथों पर जाकर 3655 लोगों की राय लेकर की है. सर्वे में कहा गया है कि जीएसटी और नोटबंदी से गुजरात के व्यापारी नाराज हैं और अधिकांश व्यापारी कांग्रेस के साथ चले गए हैं। 40 फीसदी व्यापारी बीजेपी को वोट कर सकते हैं जबकि 43 फीसदी व्यापारी कांग्रेस के साथ जा सकते हैं। सर्वे के मुताबिक जीएसटी और नोटबंदी से गुजरात के अधिकांश व्यापारी नाराज है और वो कांग्रेस के साथ जा रहे हैं। जीएसटी से 37 फीसदी व्यापारी खुश जबकि 44 फीसदी नाराज हैं। गुजरात के 19 जिलों में चुनाव के पहले चरण के तहत 9 दिसंबर को मतदान होगा। बाकी 14 जिलों में 14 दिसंबर को मतदान होगा। गुजरात चुनाव के नतीजे 18 दिसंबर को जारी किये जाएंगे। गुजरात में 4.3 करोड़ मतदाता है जो 182 सीटों पर प्रत्‍याशियों के भविष्‍य का फैसला करेंगे। कुल 50 हजार 128 पोलिंग बूथों पर मतदान संपन्‍न कराया जाएगा। चुनाव लड़ रहे प्रत्‍याशियों के लिए अधिकतम खर्च सीमा 28 लाख रुपये तय की गई है।

(2)

loading...

Leave a Reply