केजरीवाल 2019 में करेंगे भाजपा के लिए प्रचार लेकिन एक शर्त पर

0
50

नई दिल्ली :दिल्ली को पूर्ण राज्य की मांग को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को विधानसभा में कहा कि अगर 2019 तक दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिल जाता है तो मैं पूरी कोशिश करूंगा कि दिल्ली की जनता का हर वोट बीजेपी को ही जाए।उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि यदि मोदी सरकार ऐसा करने में नाकाम रही, तो पार्टी “बीजेपी दिल्ली छोड़ो” अभियान आयोजित करेगी। केजरीवाल ने विधानसभा में कहा, “मैं बीजेपी से कहना चाहता हूं, लोकसभा चुनाव से पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाए, लोगों का हर वोट बीजेपी के पक्ष में जाएगा और हम (आप) लोकसभा चुनाव में उनके लिए प्रचार करेंगे।लेकिन, अगर वे (बीजेपी) दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं देते हैं तो यहां के लोग कहेंगे- बीजेपी वालों दिल्ली छोड़ो।दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के सरकार के प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जानना चाहा कि क्या 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान किया गया उनका यह वादा ” जुमला ही रहेगा कि भाजपा सत्ता में आने पर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगी।

केजरीवाल ने कहा , ” हमें दिल्ली के विकास , अपने बच्चों के भविष्य के लिए लड़ना होगा …. मैं मोदी जी से कहना चाहता हूं कि उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान दिल्लीवासियों से पूर्ण राज्य का दर्जा देने का वादा किया था। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या वह जुमला था। अगले लोकसभा चुनावों से पहले केजरीवाल की अगुवाई वाली ‘ आप ने पूर्ण राज्य के दर्जे के मुद्दे को दिल्ली की जनता के बीच जोरदार तरीके से उठाने का फैसला किया है। अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को दिल्ली विधानसभा में कहा, ‘दिल्ली ऐतिहासिक शहर है. राजनीति में दिल्ली का दुर्भाग्य रहा कि यहां राजाओं का राज रहा, जनता का शासन नहीं हुआ. महाराजा अकबर, औरंगज़ेब, बहादुरशाह जफर फिर अंग्रेज़ और महाराज नजीब जंग और अब महाराज अनिल बैजल का राज चल रहा है.

उन्होंने आगे कहा, ‘लोगों ने आज़ादी और जनतंत्र के लिए कुर्बानी दी, ताकि जनता राज करेगी. सरकार जनता के हिसाब से काम करेगी और जनता सरकार से सवाल कर सकती है. पूरे देश मे जनता का राज है लेकिन दिल्ली में एलजी राज चल रहा है.केजरीवाल ने आरोप लगाया कि सरकार ने ये मामले दिल्ली सरकार के काम को रोकने के लिए दर्ज किए हैं. उन्होंने कहा, ” हमने पिछले तीन सालों में बहुत काम किया है.

बीजेपी जो पिछले 10-15 सालों से सरकार चला रही है वो भी इतना काम नही कर पाई थी. लोग पूछ रहे हैं कि मोदी जी ने पिछले चार सालों में शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए क्या किया है? लोगों का ध्यान हटाने के लिए केन्द्र सरकार दिल्ली सरकार पर हमला बोल रही है. यहां तक कि सरकार हमसे मोहल्ला क्लीनिक की भी फाइलें मांग रही है. हमें 1000 मोहल्ला क्लिनिक बनाने से रोकने की बजाए मोदी सरकार को देशभर में 1 लाख क्लीनिक खोलने चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here