पल पल बदल रहा है कर्णाटक का सियासी समीकरण

0
45

बेंगलुरु: कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के नतीजों में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है। सरकार बनाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस+जेडीएस में जद्दोजहद शुरू हो गई है। येदियुरप्पा को विधायक दल के नेता चुने गए है। राज्यपाल वजुभाई से मिलने के बाद येदियुरप्पा ने कहा, राज्यपाल के फैसले का इंतजार है। सूत्रों के अनुसार कर्नाटक में बीजेपी की ही सरकार बनेगी। सूत्रों का कहना है कि कल येदियुरप्पा सीएम पद की शपथ ले सकते है। खबरों के अनुसार बीजेपी के साथ एक निर्दलीय विधायक भी है।

वहीँ दूसरी तरफ कांग्रेस-जेडीएस लगातार बहुमत का दावा कर रही है, और बीजेपी कह रही है कि वह सबसे पार्टी है. सभी की नज़रें अब राजभवन पर टिकी हैं. कांग्रेस और जेडीएस राज्यपाल वजुभाई वाला के सामने अपने विधायकों की परेड करवाएगी.कांग्रेस और जेडीएस अपने विधायकों के साथ राजभवन पहुंच गए हैं. आपको बता दें कि कर्नाटक में 222 सीटों पर मतदान हुआ था, इस हिसाब से बहुमत के लिए 112 विधायकों का समर्थन ही चाहिए.कांग्रेस-जेडीएस के सिर्फ 10 विधायकों को राजभवन में जाने की इजाजत मिलेगी.

सूत्रों की मानें तो समर्थन पत्र पर कांग्रेस के कुल 78 में से तीन विधायकों के हस्ताक्षर नहीं हैं.जेडीएस का दावा है की सभी 38 विधायक के साथ राज्यपाल के सामने परेड करवाएंगे.जेडीएस के सभी विधायक राजभवन पहुंच गए हैं.कांग्रेस सूत्रों की मानें तो राज्यपाल के सामने 75 विधायक परेड करेंगे.कांग्रेस समर्थन पत्र पर विधायकों के साइन करवाए गए थे , अभी भी आनंद सिंह और नागेंद्र के साइन नहीं हैं.सुत्रों की मानें तो कांग्रेस पार्टी अभी से विकल्पों पर काम कर रही है. अगर राज्यपाल बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता देते हैं तो कांग्रेस इन कदमों को उठा सकती है.

# गवर्नर के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका

# गवर्नर के सामने विधायकों की परेड

# जरुरत पड़े तो राष्ट्रपति की शिकायत, राष्ट्रपति के सामने ही विधायकों की परेड.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here