लालू जी से चार बार फ़ोन कर के बात किया और अब यह फैसला किया है की…….

0
164

पटना:बिहार के सीएम नितीश कुमार इन दिनों काफी चर्चे में हैं।राजद सुप्रीमो लालू यादव को फोन किए जाने के बाद उठे बवाल पर जवाब देते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने एक बार नहीं लालूजी का स्वास्थ्य जानने के लिए चार बार फोन किया था। इसपर इस तरह की बयानबाजी और कयास लगाना क्या उचित है? बिना जाने समझे इसपर इस तरह की टिप्पणी की गई जो मानवीय संवेदनाओं से परे है। सुनकर आश्चर्य होता है कि लोग कैसी सोच रखते हैं। नीतीश ने कहा कि उन्होंने एक बार नहीं बल्कि चार बार लालूजी का हाल लिया था. एक बार उनके राज्यसभा सांसद मनोज झा और दो बार विधायक भोला यादव से बात हुई थी. लेकिन जब इस संबंध में ख़बर आयी उसके बाद विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जो बयान दिया वो काफ़ी ओछा था.नीतीश ने कहा कि वो लालू जी के घर में शादी विवाह में जाते रहते हैं. लालू जी से राजनीतिक रूप से विरोध है लेकिन व्यक्तिगत रूप से क्या विरोध होगा? नीतीश ने कहा कि अगर किसी के बीमार पड़ने पर हाल-चाल लेने पर किसी को क्या आपत्ति हो सकती है.

उन्‍होंने कहा कि किसी के साथ उनकी चिढ़ या दुश्मनी नहीं है और अगर पहले से ही व्यक्तिगत सम्बंध रहे हों तो कोई हाल-चाल क्‍यों नहीं लेगा.पटना में जनसंवाद कार्यक्रम के बाद मीडिया से बात करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने साफ कहा कि सरकार में कोई मतभेद नहीं है. मैं और सुशील मोदी एक साथ बैठे हैं और क्या कोई दूरियां नजर आ रही हैं? सीट शेयरिंग के सवाल पर उन्होंने कहा कि समय आने पर इस पर बात होगी. एनडीए में कहीं कोई दिक्कत नहीं है. सीट शेयरिंग को लेकर अभी कोई बातचीत नहीं है. समय आने पर हमलोग इस पर बैठकर बातचीत करेंगे.लालू से बातचीत के सवाल पर मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि मैंने उनका हालचाल जानने के लिए चार बार फोन किया. लेकिन हमारे फोन करने को लेकर काफी गलत बातें समाने आई, जो बेहद गलत है. उन्होंने पूछा कि क्या हम किसी के सेहत की जानकारी नहीं ले सकते हैं लेकिन इस बात को जिस तरह पेश किया गया वो आहत करने वाली है.

नो एंट्री वाले बोर्ड पर नीतीश ने कहा कि क्या किसी की हैसियत है नो एंट्री लगाने का.पटना में लोक संवाद कार्यक्रम में भाग लेने के बाद नीतीश कुमार ने कहा, “सरकार में कोई मतभेद नहीं है. बिहार में सरकार सही तरीके से चल रही है. मैं और सुशील मोदी एक साथ बैठे हैं, कोई दूरी नजर आ रही है क्या?बिहार के बाहर गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमलोगों का बिहार में बीजेपी के साथ गठबंधन है लेकिन सभी पार्टियां अपना विस्तार करना चाहती है.

जो लोग बिहार के बाहर पार्टी के लिए काम कर रहे हैं उनकी इच्छा के मुताबिक फैसला लिया जाता है. बिहार के बाहर एनडीए को छोड़कर किसी और से गठबंधन की बात बेमानी है.वन इंडिया और वन इलेक्शन के सवाल पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोग सिद्धांत रुप से हमलोग इसके पक्षधर रहे हैं. यह एक बड़ा मुद्दा है और सभी राजनीतिक पार्टियों से बात कर एक राय बनानी होगी.तेजस्वी का नाम लिए बिना नीतीश ने कहा कि जैसा बयान दिया गया कि अगर कोई किसी से बातचीत करेगा और उसका ग़लत अर्थ लगाया जायेगा तो कोई किसी को अब फ़ोन नहीं करेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here