बुनियादी सिद्धांतों से समझौता नहीं कर सकता:नितीश कुमार

0
26

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सत्ता रहे या नहीं, वे अपने बुनियादी सिद्धांतों से समझौता नहीं करेंगे। भ्रष्टाचार, अपराध और सांप्रदायिक सद्भाव बिगाडऩे वालों से कोई समझौता नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को संविधान में जो आरक्षण दिया गया है उसे कोई छीन नहीं सकता। इसके लिए वह अंतिम सांस तक संघर्ष करेंगे।

कौन आरक्षण के खिलाफ किसकी क्या राय है, उससे उनका कोई लेना-देना नहीं।- सीएम ने चौकीदारों व दफादारों को भी सौगात दी। कहा कि वे रिटायरमेंट के 4 माह पहले लिखकर देंगे तो उनके परिजन को उनकी जगह नियुक्त किया जाएगा। सीएम ने उनके पोशाक भत्ते को भी बढ़ाने की घोषणा की। अब चौकीदारों को हर साल 3 हजार की जगह 4 हजार और दफादारों को 8 हजार रुपए मिलेंगे।

सीएम ने एससी-एसटी-पिछड़े-अति पिछड़े-अल्पसंख्यक छात्रावास में रहनेवालों को बीपीएल दर पर अनाज देने व उन्हें विशेष आर्थिक सहायता देने का एेलान किया। यह छात्रवृत्ति से अलग होगा।नीतीश कुमार ने कहा कि राजनैतिक दल के रूप में जदयू गांधी, जेपी, लोहिया,कर्पूरी और आंबेडकर के विचारों को जमीन पर उतार रही है। 2005 अंत में सरकार बनी और 2006 फरवरी में पंचायत और नगर निकाय चुनावों में आरक्षण दे दिया। क्यों नहीं 2001 के चुनाव में राजद-कांग्रेस सरकार ने आरक्षण दिया?

कहा कि सत्ता में रहें या न रहें इसकी चिंता नहीं, बुनियादी सिद्धांतों से कोई समझौता नहीं करेंगे। हम और हमारी पार्टी क्राइम, करप्शन और कम्युनिलिज्म से कोई समझौता नहीं कर सकती। किसी का नाम लिए बिना मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को समाज को तोडऩे में यकीन है। जरूरत इस बात की है कि समाज में टकराव और तनाव के माहौल को खत्म कीजिए। कुछ लोग मिनट-मिनट पर बयान देने के आदी हैैं, पर हमलोग इससे दूर हैैं। हमें बयानबाजी नहीं अपने काम पर भरोसा है। बयानबाजी का असर क्षणिक रहता है। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि आपकी प्रतिबद्धता किस चीज से है। स्कूल के जमाने से ही डॉ. लोहिया का यह वाक्य दिल में है कि जुबान से कम बोलिए, काम ऐसा कीजिए कि वह बोले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here