मुश्किल में पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ,वकील ने भी छोड़ा साथ

0
62

इस्‍लामाबाद:एवेनफील्‍ड संपत्‍ति मामले में फंसे पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का कहना है कि उनके इस केस को लड़ने के लिए कोई वकील तैयार नहीं हो रहा है। शरीफ के वकील ख्‍वाजा हैरिस ने सोमवार को नवाज व उनके परिवार को दी जाने वाली अपनी कानूनी सेवाओं को समाप्‍त कर दिया। हैरिस ने कहा कि सप्‍ताहांत में अकाउंटैबिलिटी कोर्ट में पेश होने में वे असमर्थ हैं।नवाज शरीफ के वकील ख्वाजा हैरिस ने इस केस को लड़ने से इनकार कर दिया है. यह घटना सोमवार की है, जब पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश दिया कि इस मामले की सुनवाई शनिवार सहित सप्ताह के प्रत्येक दिन होगी. इसके बाद शरीफ के वकील इस केस से हट गए.सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग के नेता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए आपत्ति दर्ज कराई. शरीफ ने कहा कि मेरे मूलभूत अधिकार का उल्लंघन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मौजूदा परिस्थिति में कोई भी वकील इस केस को नहीं लेगा, क्योंकि उसे केस की तैयारी करने का समय नहीं मिलेगा. केस की सुनवाई वीकेंड पर भी हो रही है.

जब केस के जज मोहम्मद बशीर ने कोर्ट में सुनवाई शुरु की, तब शरीफ ने जज से कहा, ‘मेरे वकील ने केस से खुद को हटा लिया है. मेरा मूलभूत अधिकार है कि मैं अपनी पसंद के हिसाब से एक नया वकील हायर करूं.शरीफ ने आगे कहा कि अब तक ख्वाजा हैरिस केस को अच्छी तरह से समझते थे, अब इस स्थिति में एक नये वकील को नियुक्त करना आसान काम नहीं है. पाकिस्तान के सुप्रीमकोर्ट ने रविवार(10 जून) को एक भ्रष्टाचार निरोधक अदालत को अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ कार्यवाही को एक माह के भीतर समाप्त करने का निर्देश दिया. पिछले साल जुलाई में उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोग्य ठहराये जाने के बाद 68 वर्षीय शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ तीन मुकदमे शुरू किये गए थे.

अदालत ने मामलों की सुनवाई पूरी करने के लिए छह माह की समयसीमा तय की थी. इस मियाद को बाद में इस साल मार्च में दो महीने के लिए और मई में एक महीने के लिए बढ़ा दिया गया था.याद रहे की नवाज और उनका परिवार भ्रष्‍टाचार के तीन मामलों का सामना कर रहा है जो नेशनल अकाउंटैबिलिटी ब्‍यूरो (एनएबी) द्वारा दायर की गई है। यदि पाकिस्‍तान आम चुनाव के पहले भ्रष्‍टाचार मामलों में फैसला आया तो यह कानून का अपमान होगा। उन्‍होंने परवेज मुशर्रफ की भी आलोचना की। उन्‍होंने कहा, ‘संविधान का उल्‍लंघन करने वाले तानाशाह को कैसे इतना प्‍यार दिया जा रहा है।‘ अकाउंटैबिलिटी कोर्ट में भ्रष्‍टाचार मामले में शरीफ के बेटे हसन और हुसैन, बेटी मरियम, दामाद मोहम्‍मद सफदर और वित्‍त मंत्री इशाक डार का नाम शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here