जहरीला था पतंजलि का प्रोडक्ट,इस देश ने लगा दी पाबंदी,बाबा को लगा झटका

0
183

नई दिल्ली :देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनियों में से एक पतंजलि को लेकर आए दिन कोर्इ ना कोर्इ खबर आती ही रहती है। वहीं बाबा रामदेव भी हमेशा से सुखिर्यों में रहते हैं। अब बाबा आैर पतंजलि एक नर्इ खबर आैर अपने फैसले को लेकर सुर्खियों में हैं। उन्हाेंने साफ कर दिया है कि वो कंपनी को आगे बढ़ाने आैर दौलत कमाने के लिए विदेशियों का सहारा या यूं कहें कि उनके साथ पार्टनरशिप नहीं करेंगे। आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सुनने में आ रहा था कि पतंजलि ग्रुप शेयर मार्केट में अपना आर्इपीआे लेकर आ रही है। लेकिन उसके लिए विदेश इक्विटी की जरुरत होती है। जिसपर रामदेव ने साफ इंकार कर दिया है।

फिक्की लेडीज के एक कार्यक्रम में बोलते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि एफएमसीजी क्षेत्र की अग्रणी फर्म्स में से एक हैं। उसका किसी भी समय में सार्वजनिक प्लेटफाॅर्म पर आने की कोर्इ योजना नहीं है क्योंकि यह चैरिटेबल ट्रस्ट है। उन्होंने साथ में यह भी कहा कि वो किसी विदेशी इक्विटी को मंजूरी नहीं देंगे। बाबा रामदेव का यह बयान अपने पिछले कर्इ मुद्दों पर दिए कर्इ बयानों से बड़ा आैर महत्वूपर्ण हैं। क्योंकि विदेश कंपनियां पतंजलि के साथ जुड़कर भारत आैर विदेशों में काम करने का मन बना रही थी।

इस बयान के बाद कर्इ विदेशी निवेशकों के सपनों पर पानी फिर गया होगा।लेकिन अब एक नई खबर यह आ रही है जिस में बाबा रामदेव को सख्त झटका दिया है। बाबा रामदेव,नेचुरल प्रोडक्ट बेचने का दावा करने वाले बाबा रामदेव को कतर सरकार की ओर से जोरदार झटका उस वक्त लगा, जब कतर सरकार ने पतंजलि के सभी प्रोडक्ट की बिक्री पर रोक लगा दी। वहीं कतर सरकार की तरफ से प्रतिबंध लगाने की वजह हैरान करने वाली है। कतर सरकार के मुताबिक पतंजलि प्रोडक्ट में तय मात्रा से ज्यादा केमिकल प्रयोग किया गया है। इसके चलते प्रतिबंध लगाया गया।

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने विवेक पांडे नाम के व्यक्ति का एक ट्वीट शेयर किया। इसमें कतर सरकार के पत्र के हवाले से लिखा गया कि कतर सरकार ने रामदेव की कंपनी के सभी प्रोडक्ट की बिक्री पर रोक लगा दी है। थरूर ने लिखा कि अगर ये खबर सही है, तो ये काफी गंभीर मामला है। बता दें की पतंजलि आयुर्वेद के मालिक और बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण देश के टॉप 25 अमीरों की सूची में शामिल हो चुके हैं। फोर्ब्स ने हाल ही में देश के अमीरों की जो सूची शामिल की है उसमें आचार्य बालकृष्ण को शामिल किया गया है।

आचार्य बालकृष्ण की दौलत 32.5 हजार करोड़ रुपए (4.4 अरब डॉलर) आंकी गई है। 2016 के मुकाबले उनकी दौलत (नेट वर्थ) में दोगुनी बढ़ोतरी हुई है।फोर्ब्स के मुताबिक बालकृष्ण की पतंजलि आयुर्वेद कंपनी में 98.6 फीसदी हिस्सेदारी है। इस कंपनी की स्थापना उन्होंने बाबा रामदेव के साथ मिलकर की है। उनकी दौलत में बढ़ोतरी पंतजलि से होने वाली आय के कारण है। पतंजलि की सालाना आय 11.8 हजार करोड़ रुपए (1.6 अरब डॉलर) है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here