शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी और भाजपा को किया “खामोश”,एक साथ कई हमले

0
61

मुंबई :बीजेपी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने अपना बागी तेवर दिखाते हुए एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। शत्रुघ्न ने शनिवार को पीएम मोदी पर सोशल मीडिया के जरिए कई सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के सवालों का जवाब देने के बजाए पीएम मोदी ध्यान हटाने की राजनीति कर रहे हैं। साथ ही शत्रुघ्न सिन्हा ने राहुल गांधी की तारीफ़ करते हुए कहा कि वे पिछले सालों में परिपक्व हुए है और उन्होंने देश के हित में कई प्रासंगिक सवाल उठाए हैं।

हाल ही में संपन्न हुए कर्नाटक विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान मोदी ने राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताने पर उन्हें अपरिपक्व और नामदार (शासक) करार दिया था. इस पर पीएम मोदी ने तंज कसते हुए कहा था कि आप (गांधी) नामदार हैं, जबकि मैं कामदार (सामान्य कार्यकर्ता) हूं.

सिन्हा ने अपने ट्वीट में लिखा, कांग्रेस अध्यक्ष पिछले कुछ साल में परिपक्व हुए हैं और वह आम जनता के बीच लोकप्रिय हैं. अगर देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी के नेता के अंदर देश का अगला प्रधानमंत्री बनने की संभावना दिखती है तो इसमें गलत क्या है? कोई भी पीएम बनने का सपना देख सकता है और सपने तभी सच होते हैं, जब आप सपने देखते हैं.
उन्होंने आगे लिखा की कांग्रेस अध्यक्ष पिछले कुछ वर्षों में परिपक्व हुए हैं और वह आम जनता के बीच लोकप्रिय हैं.

अगर देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी के नेता के अंदर देश का अगला प्रधानमंत्री बनने की संभावना दिखती है तो इसमें ग़लत क्या है? कोई भी पीएम बनने का सपना देख सकता है और सपने तभी सच होते हैं, जब आप सपने देखते हैं.हमारे प्रजातंत्र में कोई भी देश का प्रधानमंत्री बन सकता है. नामदार, कामदार, दामदार या फिर कोई औसत समझदार पीएम बन सकता है, अगर उसके पास संख्याबल और समर्थन है. हम इस पर इतना हो-हल्ला क्यों मचा रहे हैं. वैसे भी यह उनका अंदरूनी मामला है और कोई भी बहुमत हासिल करने के बाद ही पीएम बनता है ,

पिछले कुछ सालों में हमारे देश की सबसे पुरानी पार्टी के नेता परिपक्व हुए हैं. उनके कुछ प्रासंगिक सवालों का उत्तर देने के बजाय मज़ाक बनाया जा रहा है. नीरव, ललित, माल्या, बैंक, रफ़ाल डील और भी बहुत सी. जवाब देने के बजाए हम ‘भटकाव की राजनीति’ में चले जाते हैं. विकास और दूसरे मुद्दों से उतर इस कला में हम पारंगत हो चुके हैं. हालांकि सर, यह हमारी जनता, राजनीति और नीतियों से जुड़ा हुआ मामला है. आपको शुभकामनाओं के साथ! जय कर्नाटक, जय हिंद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here