श्रीराम सेना के मुखिया ने गौरी लंकेश की तुलना कुत्ते से की ,हंगामा

0
156

नई दिल्ली:कर्नाटक की मशहूर जर्नलिस्ट गौरी लंकेश मामले की गुत्थी सुलझने ही वाली है की एक ब्यान ने सब को हैरान कर दिया है। श्रीराम सेना के मुखिया प्रमोद मुतालिक ने गौरी लंकेश मर्डर पर विवादास्पद बयान दिया है। मुतालिक ने कर्नाटक में लंकेश और कलबुर्गी हत्या समेत महाराष्ट्र में हुई हत्याओं का जिक्र करते हुए कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया। इससे पहले भी मुतालिक विवादों में रहे हैं। मुतालिक ने यह कहकर, ‘मोदी क्यों प्रतिक्रिया दे अगर कर्नाटक कोई कुत्ता मर जाता है’, नये विवाद को खड़ा कर दिया।राजा जी नगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुतालिक ने लंकेश की हत्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आने की निंदा करने वालों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘ कांग्रेस शासन में कर्नाटक और महाराष्ट्र में दो-दो हत्यायें हुई। कोई इसे कांग्रेस की हार नहीं बताता है। बल्कि ये पूछ रहे है कि पीएम मोदी ने गौरी लंकेश की हत्या पर कोई टिप्पणी नहीं दी। मोदी क्यों प्रतिक्रिया दे अगर कर्नाटक में  कोई कुत्ता मर जाता है.

खबरों के अनुसार, बाद में उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने ऐसी कोई सीधी तुलना नहीं की है. उन्होंने बेंगलुरु में आयोजित एक सार्वजनिक कार्यक्रम में यह बयान दिया था.मुतालिक ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सत्ता है, लेकिन बुद्धिजीवी पीएम मोदी पर उंगली उठा रहे हैं. उन्होंने कहा कि उनके संगठन का गौरी लंकेश से वैचारिक मतभेद था, ‘लेकिन हम इतने नीचे नहीं गिर सकते कि किसी की हत्या कर दें.बता दें की प्रमोद मुथालिक ने कहा था की, ‘श्री राम सेना का गौरी लंकेश की हत्या से कोई संबंध नहीं है। हर कोई कह रहा है कि हिंदू समूहों ने गौरी लंकेश को मारने की साजिश रची। कांग्रेस के शासनकाल में कर्नाटक में 2 और महाराष्ट्र में 2 हत्याएं हुईं। किसी ने भी कांग्रेस सरकार की विफलता पर कुछ नहीं कहा। इसकी बजाए वो कह रह हैं कि मोदी क्यों चुप हैं और गौरी लंकेश की हत्या पर कुछ क्यों नहीं बोल रहे हैं। पीएम मोदी को क्यों बोलना चाहिए.

क्या आप उम्मीद रखते हैं कि अगर कर्नाटक में किसी कुत्ते की मौत होती है तो पीएम मोदी को बोलना चाहिए?’प्रमोद मुथालिक की इस टिप्पणी पर कांग्रेस के बृजेश कालप्पा ने कहा,’वे किस प्रकार के हिंदू धर्म की बात कर रहे हैं? हम निश्चित रूप से कानूनी कार्रवाई करेंगे।’ वहीं राजनीतिक विश्लेषक रवि श्रीवास्तव ने कहा कि मुझे इस तरह की टिप्पणी सुनने में शर्म आती है। यह बीजेपी, संघ और राइट विंगर्स के साथ एक संस्कृति बन गई है.इस बीच गौरी लंकेश की हत्या की जांच कर रहे विशेष जांच दल ने मामले में श्रीराम सेना के विजयपुरा जिला अध्यक्ष राकेश मथ को पूछताछ के लिए समन भेजा है, क्योंकि गौरी को गोली मारने वाला संदिग्ध परशुराम वाघमारे इसी हिंदुत्ववादी संगठन का सक्रिय सदस्य है। एसआईटी इस बात का पता लगाना चाहती हैं कि गौरी की नृशंस हत्या में कहीं मथ का भी तो हाथ नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here