तेलंगाना में भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस ने की नई चाल ,इस पार्टी के साथ किया गठबंधन

0
152

हैदराबाद:तेलुगू देशम पार्टी ने 1982 में अपने गठन के बाद पहली बार कांग्रेस से हाथ मिलाया है। दोनों ने तेलंगाना में विधानसभा चुनाव साथ लड़ने का फैसला किया है। लेफ्ट भी उनके साथ है। तीनों पार्टियों के नेताओं ने मंगलवार को पहले दौर की बैठक के बाद राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात की और राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। तेलंगाना राष्ट्र समिति के प्रमुख और कार्यवाहक मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने पिछले दिनों विधानसभा भंग कर दी थी। ऐसा कहा जा रहा है कि राज्य में दिसंबर तक चुनाव हो सकते हैं।कांग्रेस, टीडीपी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) के नेताओं ने एक होटल में बैठक की. गठबंधन के निमित्त यह इनकी पहली बैठक थी.

मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव ने जल्द चुनाव कराने के लिए पिछले सप्ताह विधानसभा भंग कर दी थी. चुनाव अब नवंबर में हो सकते हैं. विपक्षी दलों ने टीआरएस प्रमुख के कदम को अलोकतांत्रिक करार दिया है.उत्तम कुमार रेड्डी, टीडीपी की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष एल. रमना और भाकपा की राज्य इकाई के सचिव चादा वेंकट रेड्डी और तीनों पार्टियों के अन्य नेताओं ने बातचीत में हिस्सा लिया. बाद में उन्होंने अन्य विपक्षी दलों के नेताओं के साथ राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात की और राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग की. उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर राव के कार्यवाहक मुख्यमंत्री रहते स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है.तेलंगाना में कांग्रेस के प्रभारी आरसी खुंटिया ने कहा, ”टीडीपी से गठबंधन करने में पहले जैसी कड़वाहट नहीं है.

उन्होंने कर्नाटक का उदाहरण देते हुए कहा कि कांग्रेस ने अधिक सीट जीतने के बाद भी जेडीएस के नेता को मुख्यमंत्री बनाया. इसी तरह तेलंगाना में भी गठबंधन किया जा सकता है. खुंटिया ने कहा कि राजनीतिक दलों से बातचीत शुरुआती स्तर पर है, अभी तक सीटों के मुद्दे पर बात नहीं हुई है.उन्होंने कहा, ”यह सिर्फ शुरुआती स्तर पर है. हमने अभी सीटों के मुद्दे पर बात नहीं की है.

लेकिन हम व्यापक स्तर पर गठबंधन का फॉर्मूला तैयार कर रहे हैं. इसमें टीडीपी भी शामिल है. कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को आधार माना जा रहा है.वहीं तेलंगाना कांग्रेस के अध्यक्ष एन उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि पहले ही पार्टी टीडीपी समेत सभी दलों से अपील कर चुकी है कि कांग्रेस के साथ आकर ‘टीआरएस की अराजकता’ को खत्म किया जाए. उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा, ”राज्य में टीआरएस और एंटी टीआरएस (बीजेपी को छोड़कर) ब्लॉक है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here