येरुशलम को इजरायल की राजधानी का ट्रंप ने किया एलान

main slider, दुनिया

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान वादा किया था कि वह येरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देंगे। उन्होंने वादा किया था कि वह अमेरिकी दूतावास को तेल अवीव से येरुशलम शिफ्ट करेंगे। आज यानी 6 दिसंबर को ट्रंप अपना यह वादा पूरा करने जा रहे हैं।इसके साथ ही यूएस दूतावास को भी वहीं पर शिफ्ट करने की बात चल रही है। ऐसा करके ट्रंप यूएस की बरसों पुरानी विदेश नीति में बदलाव करने वाले हैं। माना जा रहा है कि इससे आने वाले वक्त में मिडिल ईस्ट (खाड़ी देशों) में हिंसा भड़क सकती है, अरब देशों ने फैसले का विरोध शुरू भी कर दिया है।इतनी जल्दी शिफ्ट नहीं हो पाएगा दूतावास: माना जा रहा है कि दूतावास को शिफ्ट करने के काम में तीन से चार साल लग सकते हैं, इसलिए अभी कोई तारीख या वक्त तय नहीं किया गया है।फिलिस्तीन और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के विरोध के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप बुधवार को यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने का ऐतिहासिक ऐलान करने वाले हैं। ट्रंप के इस कदम का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विरोध के साथ-साथ अमेरिका में भी विरोध हो रहा है। आइए जानते हैं कि यरुशलम का मुद्दा क्यों इतना संवेदनशील है और क्यों यह विवादों की जड़ है.

(2)

loading...

Leave a Reply