जानिए,उमा भारती ने क्यों चुनाव को कहा ‘राम-राम

0
34

नई दिल्ली:केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने रविवार को साफ किया कि अब वह लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगी। झांसी ही नहीं, कहीं से भी वह चुनाव नहीं लड़ेंगी। वह मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में भी नहीं है। सिर्फ पार्टी के लिए प्रचार करेंगी। उन्होंने दावा कि वह 90 दिन में फूड प्रोसेसिंग पार्क व लक्ष्मी ताल का काम शुरू कराएंगी।
झांसी से सांसद उमा भारती ने कहा कि वह दो बार सांसद रही हैं और पार्टी के लिए काफी काम किया है। इसके चलते इतनी कम उम्र में उनका शरीर जवाब देने लगा है। कमर और घुटनों में दर्द के चलते चलने-फिरने में परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि वह पहले की तरह ही पार्टी के लिए प्रचार करती रहेंगी। बता दें, उमा भारती वर्तमान में झांसी से सांसद हैं।

उन्होंने कहा कि वह दो बार सांसद रही हैं और पार्टी के लिए काफी काम किया है, उसी के चलते इतनी कम उम्र में उनका शरीर जवाब देने लगा है। कमर और घुटनों में दर्द के चलते चलने-फिरने में परेशानी होती है। पार्टी के लिए प्रचार करती रहेंगी। राम मंदिर के सवाल पर उन्होंने कहा कि न्यायालय अपना फैसला सुना चुका है, लिहाजा आपसी सहमति से राम मंदिर का निर्माण हो जाना चाहिए।

माना जा रहा है की उमा भारती अब मप्र के सीएम के लिए मन बनाना शुरू करेंगी यह और बात है की अभी वो इस से इंकार कर रहीं हैं ,लेकिन राजनीती में कब क्या हो जाता है और कब किस उम्मीद को किस अंदाज़ में दबाए रखता है ,यह कहना आसान नहीं होता। उमा भारती अभी अपने स्वास्थ की वजह से चुनाव से अलग हो रही हैं लेकिन ऐसा माना जा रहा है की वह सीएम के लिए स्वास्थ बनाने के लिए समय निकाल रही हैं, वो फिर से स्वास्थ हो कर सीएम की कुर्सी पर ब्रजमान होना चाह रही हैं। अब देखना होगा की समय के अनुसार उमा की राजनीती के कितने रंग बदलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here