ताजमहल पर विश्व हिन्दू परिषद के गुंडों का हमला,तोड़फोड़

0
346

आगरा:विश्व भर में प्रेमी की निशानी के तौर पर मशहूर भारत की ऐतिहासिक विरासत स्थल ताजमहल में विश्‍व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने घुसकर जमकर हंगामा और तोड़फोड़ किया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एएसआई द्वारा सिद्धेश्‍वर महादेव मंदिर जाने का रास्‍ता रोके जाने के कारण उन्‍हें यह कदम उठाना पड़ा।विश्व विरासत स्थल और दुनिया के 8 अजूबों में शामिल ताजमहल के परिसर में उग्र हिंदूवादी संगठनों ने जमकर हंगामा किया है। इस दौरान विश्‍व हिंदू परिषद (विहिप) के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने ताज परिसर में घुसकर न सिर्फ हंगामा और नारेबाजी किया, बल्कि जमकर तोड़फोड़ भी की। विहिप कार्यकर्ताओं के ताज परिसर के अंदर हंगामे की वजह से काफी देर तक पर्यटकों को असुविधा का सामना करना पड़ा।पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को निदेशक ने 20 दिन के भीतर टर्न स्टाइल गेटों से प्रवेश शुरू करने के निर्देश दिए थे। अब यह काम समय सीमा में होना मुश्किल लग रहा है।ताज के पश्चिमी गेट पर टर्न स्टाइल गेट लगाने का काम पिछले छह माह से चल रहा था। इसी तरह पूर्वी गेट पर भी रेवती का बाड़ा में टर्न स्टाइल गेट लगाए जा रहे हैं। पश्चिमी गेट का काम लगभग पूर्ण होने के कगार पर था, लेकिन रविवार को प्राचीन मंदिर का रास्ता बंद करने पर हुए विवाद के बाद अब गेट का निर्माण कार्य थम गया है। पिछले दिनों काम बंद रहा। इस मामले में एएसआई की ओर से मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। दोनों गेटों पर टर्न स्टाइल गेट का काम 26 जून तक पूरा किया जाना था।

पिछले दिनों आईं एएसआई की निदेशक उषा शर्मा ने दोनों गेटों पर कार्य का निरीक्षण किया था। उन्होंने इसी माह के अंतिम सप्ताह तक समयबद्ध प्रवेश के लिए टर्न स्टाइल गेटों का काम पूरा करने को कहा था। मिली जानकारी के अनुसार, बीते दिनों 20 से 25 लोगों ने ताजमहल के पश्चिमी छोर पर स्थित गेट पर हमला बोल दिया। इन लोगों ने हंगामा करते हुए वहां पर भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण (एएसआई) द्वारा लगाए जा रहे एक गेट को उखाड़ दिया। विहिप कार्यकर्ताओं का आरोप है कि एएसआई ताजमहल की सुरक्षा के नाम पर सैंकड़ों साल पुराने सिद्धेश्‍वर महादेव मंदिर जाने के पुराने रास्‍ते को बंद कर रहा है। विहिप कार्यकर्ताओं का कहना था कि वे एएसआई द्वारा मंदिर जाने का रास्‍ता अवरुद्ध करने का विरोध कर रहे हैं। कोई 400 वर्ष प्राचीन मंदिर का रास्‍ता कैसे अवरुद्ध कर सकता है।

हिंदूवादी संगठन कार्यकर्ताओं द्वारा ताजमहल परिसर में तोड़फोड़ और हंगामे के कारण काफी देर तक तनाव का माहौल बना रहा। इससे पर्यटकों के आवाजाही पर भी असर पड़ा। प्रदर्शनकारियों के उग्र तेवर को देखते पुरातत्‍व विभाग सक्रिय हुआ और स्‍थानीय पुलिस-प्रशासन से इसकी शिकायत की, जिसके बाद स्‍थानीय प्रशासन हरकत में आया। इस मामले में 4-5 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वरिष्‍ठ अधिकारियों ने बताया कि यदि किसी तरह की शिकायत या समस्‍या थी तो संबंधित विभाग के अधिकारियों से बात की जा सकती थी।

प्रशासन ने उचित कार्रवाई करने की बात कही है। बता दें कि पश्चिमी गेट से पर्यटकों को ताज का दीदार कराने के लिए एएसआई सुरक्षित गेट लगा रहा है। इस द्वार पर मेटल डिटेक्‍टर भी लगाए जा रहे हैं। इस वजह से इस गेट को फिलहाल बंद कर दिया गया है। एएसआई ने ताजमहल के पीछे स्थित महादेव मंदिर जाने के लिए अलग रास्‍ता भी बना दिया है। इसके बावजूद हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ की ओर गेट उखाड़ दिए।यह अपने आप में हैरान कर देने वाली घटना है की जिस ताजमहल को दुनिया भर में प्रेम की निशानी बताई जाती है आज उस निशानी को समाज के ऐसे लोगों का सामना है जो नहीं जानते प्रेम किया है ,वह धर्म के चुरन में अपना मानसिक संतुलन खोते जा रहे हैं ,जिसका उदाहरण ताज महल के अंदर किया जाने वाला यह शर्मनाक हरकत है।

आगरा में ताजमहल गेट पर हिंदू संगठनों ने क्यों किया हंगामा- देखें VIDEO | YRAL | News Tak

आगरा में ताजमहल गेट पर हिंदू संगठनों ने क्यों किया हंगामा- देखें VIDEO | YRAL | News Tak

Posted by News Tak on Sunday, June 10, 2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here