अमेरिकी इतिहास में पहली मुस्लिम महिला जज की नियुक्ति

0
344

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने देश के इतिहास में पहली बार एक बांग्लादेशी मुस्लिम महिला को संघीय न्यायाधीश नियुक्त किया है। ऐसा कहा जाता है कि संघीय अदालतों में विविधता लाने के लिए यह उनके प्रशासन की नीति का हिस्सा है।नुसरत जहान चौधरी अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन इलिनोइस की कानूनी निदेशक हैं और उन्हें न्यूयॉर्क के पूर्वी जिले के लिए अमेरिकी जिला न्यायालय में राष्ट्रपति बिडेन द्वारा नामित किया गया है।

अगर अमेरिकी सीनेट ने उनके नामांकन को मंजूरी दे दी, तो वह संघीय न्यायाधीश और बांग्लादेशी-अमेरिकी के रूप में सेवा करने वाली पहली मुस्लिम महिला होंगी। हाल के दौर में आठ नामांकन हुए हैं, एक साल पहले राष्ट्रपति बिडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद से तेरहवां न्यायधीशों का नामांकन किया है. राष्ट्रपति बिडेन ने अब तक 83 अदालती नामांकन किए हैं और यह उनके प्रशासन के प्रयासों का हिस्सा है कि अधिक महिलाओं और विभिन्न जातियों के लोगों को संघीय अदालतों में लाया जाए।

यही कारन है बाइडन सरकार यह नहीं देख रही है की कौन महिला है और कौन पुरुष है ,सरकार सिर्फ यह देख रही है की कौन क़ाबिल है ,कौन किस ज़िम्मेदारी को अच्छी तरह से निभा सकता है ,इसी मापदण्ड पर बाइडन सरकार चलते हुए कई ऐसे फैसले ले चुकी है जिसको देखते हुए यह कहा जा सकता है की मौजूदा सरकार न धर्म देखती है न शहर और नाही जेंडर,सिर्फ क़ाबिलियत ही अकेला मापदण्ड है सरकार के लिए।

Previous articleफ़्रांस में एक बार फिर मुस्लिम लड़कियों के झटका देने की साजिश
Next articleहोशियार :अपने टूथ ब्रश से आप दोबारा कोरोना के शिकार हो सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here