दो घंटे तक वायुसेना ने किया युद्धाभ्यास,वीडियो देखें

0
124

नई दिल्ली :देश की पश्चिमी सीमा पर स्थित जैसलमेर की चांधण फील्ड फायरिंग रेंज में भारतीय वायुसेना का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास ‘वायुशक्ति-2019’ शनिवार को होगा। शाम 5.35 से लेकर रात आठ बजे तक वायुसेना 137 लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर्स के साथ रियल टाइम टारगेट ध्वस्त करेगी। युद्धाभ्यास में आकाश व अस्त्र मिसाइलों के साथ जीपीएस व लेजर गाइडेड बम, राकेट लांचर और हेलीकॉप्टर्स गनों का प्रयोग होगा। भारतीय वायुसेना का ऐसा युद्धाभ्यास तीन साल में एक बार होता है। इसको लेकर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ भी सतर्क हो गई है।
वायुसेना के 137 लड़ाकू विमान टारगेट को ध्वस्त करते नजर आए. युद्धाभ्यास में आकाश अस्त्र मिसाइलों के साथ जीपीएस और लेजर गाइडेड बम, राकेट लांचर का इस्तेमाल हुआ. युद्धाभ्यास में मिग-21 बाइसन, मिग-27, मिग-29 मिराज-2000, सुखोई-30 एमकेआई, जगुआर जैसे विमान शामिल थे. इस दौरान भारतीय वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ और सचिन तेंदुलकर मौजूद रहे. बीएस धनोआ ने कहा कि हम किसी भी ऑपरेशन के लिए तैयार हैं.

हर तीन साल में होने वाले इस युद्धाभ्यास ‘वायु शक्ति’ की इस बार थीम ‘सिक्योरिंग द नेशन इन पीस एंड वॉर’ है. ‘वायु शक्ति’ में मिग -21 बाइसन, मिग -27 यूपीजी, मिग -29, जगुआर, एलसीए (तेजस), मिराज -2000, सु -30 एमकेआई, हॉक, सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस, एन -32, एमआई -17 वी 5, एमआई -35 हमले के हेलीकाप्टरों, स्वदेशी रूप से विकसित AEW & C और उन्नत लाइट हेलीकाप्टर (ALH MK-IV) में अपनी क्षमता और ताकत का प्रदर्शन कर रहे हैं. इसके अलावा वायुसेना के गरुड़ बल, विशेष अभियानों को करने और दुश्मन के इलाके में स्थित एक लक्ष्य को नष्ट करके अपनी युद्ध क्षमता का प्रदर्शन करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here