नेहरू की गलती के कारण PoK पर पाकिस्तान का क़ब्ज़ा है:अमित शाह

0
7

मुंबई: भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मुंबई में एक रैली को संबोधित करते हुए कश्मीर का भारत में ‘एकीकरण नहीं करने’ को लेकर नेहरू पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अगर नेहरू ने बेवक्त पाकिस्तान के साथ संघर्ष विराम की घोषणा नहीं की होती तो ‘पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर’ अस्तित्व में नहीं आता. नेहरू की जगह सरदार पटेल को कश्मीर का मुद्दा अपने हाथ में लेना चाहिए था. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद देवेंद्र फडणवीस दोबारा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे.

पिछले 2-3 दिन से कांग्रेस और एनसीपी वाले कहते हैं कि ये नहीं हुआ तो जीत जाएंगे, वो नहीं हुआ तो जीत जाएंगे. मैं कहना चाहता हूं कि कुछ भी हो जाए महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार तीन चौथाई बहुमत के साथ बनाना तय है.अमित शाह ने कहा कि जब से अनुच्छेद 370 और 35-A वजूद में आया था तभी से जनसंघ और बीजेपी ने इसका विरोध किया है. 370 देश के साथ कश्मीर के जुड़ाव में बाधा रही है, साथ ही देश की एकता में भी बाधा रही है. शाह ने कहा कि आज पूरा हिन्दुस्तान चाहता है कि पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) भारत का हिस्सा बने. बीजेपी अध्यक्ष ने महाराष्ट्र की चुनावी जंग में 370 का मुद्दा उठाते हुए कहा कि ये नेहरू की गलती थी जिसकी वजह से पीओके बना और आज मौजूद है. अमित शाह ने कहा कि संस्कृति की रक्षा के लिए अनुच्छेद 370 की जरूरत नहीं है.

गुजरात, महाराष्ट्र और केरल को इसकी जरूरत नहीं पड़ी. जम्मू-कश्मीर में भ्रष्टाचार बंद हो जाता इसलिए वहां के तीन परिवारों ने 370 को संभालकर रखा.इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘5 अगस्त 2019 से लेकर आज तक कश्मीर में एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है. 370 हटने के बाद जनता शांति से अपना जीवन व्यापन कर रही है, वहां के सिर्फ 10 थानों में प्रतिबंधित धाराएं लगीं हैं, 99% लैंडलाइन खुल गए हैं, व्यापार चालू है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here