आसाराम को नज़र आई उम्मीद की एक किरण,अगर ऐसा हुआ तो आएंगे अच्छे दिन

0
62

नई दिल्ली :नाबालिग लड़की से यौन उत्पीड़न के मामले में सजा काट रहे कथावाचक आसाराम बापू ने राजस्थान के राज्यपाल को दया याचिका भेजकर पर माफ किए जाने की गुहार लगाई है.जानकारों की मानें तो आगामी लोकसभा चुनावों के चलते आसाराम बापू ने यह चाल चली है. क्योंकि आसाराम बापू को पता है कि चुनाव के ठीक पहले अगर राजस्थान सरकार किसी भी तरह की रियायत देने का मन बनाती है तो वह और उनके समर्थक भाजपा के साथ खड़े हो जाएंगे और इसका सीधा फायदा चुनाव में मिलेगा.25 अप्रैल को जोधपुर कोर्ट ने आसाराम को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। आसाराम को पांच साल पहले अपने आश्रम में एक नाबालिग के साथ रेप मामले में दोषी ठहराया गया था।

सजा को चुनौती देते हुए आसाराम ने 2 जुलाई को हाई कोर्ट का रुख किया था, लेकिन फिलहाल इस याचिका पर अभी सुनवाई नहीं हुई है। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह को हाल ही में आसाराम की दया याचिका मिली है, जिसे उन्होंने गृह मंत्रालय के पास भेज दिया है और विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है। अपनी दया याचिका में आसाराम ने उम्रकैद की सजा को कठोर दंड कहते हुए इसे कम करने की मांग की है। आसाराम ने अपनी उम्र का भी हवाला दिया है।

अब आसाराम ने दया याचिका में आजीवन कारावास की सजा को कठोर बताते हुए अपनी उम्र का हवाला दिया और इसे कम करने की मांग की। इस याचिका को जोधपुर सेंट्रल जेल प्रशासन के पास भेज दिया गया है और जिला प्रशासन और पुलिस से रिपोर्ट मांगी है। इससे पहले आसाराम सजा को चुनौता देने के लिए दो जुलाई को उच्च न्यायालय भी गए थे।लेकिन इस पर सुनवाई के लिए इसे सूचीबद्ध नहीं किया गया है।

जोधपुर सेंट्रल जेल के अधीक्षक कैलाश त्रिदेवी ने बताया कि हमें आसाराम की दया याचिका मिली है। हमने इस दया याचिका पर जिला प्रशासन और पुलिस से रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट मिलने पर जेल प्रशासन इसे राजस्थान के महानिदेशक (जेल) को भेजेंगे। अगर आसाराम की इस पेटिशन पर गवर्नर कुछ भी रहम करेंगे तो फिर बापू के अच्छे दिन सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here