बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आया नया मोड़,उठ गया बड़ा प्रश्न

0
918

नई दिल्ली :बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ट्रायल कोर्ट से यह पूछा है कि अप्रैल, 2019 तक वह कैसे मामले की सुनवाई पूरी करेगा। बीजेपी के सीनियर लीडर लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी एवं अन्य कई नेता इस मामले में आरोपी हैं। शीर्ष अदालत ने ट्रायल कोर्ट से कहा है कि वह रिपोर्ट दे और पूरा प्लान बताए कि कैसे अप्रैल, 2019 तक केस की सुनवाई पूरी करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई पूरी करने के लिए अप्रैल की डेडलाइन तय की है। जस्टिस आरएफ नरीमन और इंदु मल्होत्रा की बेंच ने मामले की सुनवाई कर रहे स्पेशल सीबीआई जज एसके यादव की याचिका पर यह आदेश दिया। न्यायालय ने यह रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में मांगी है।

शीर्ष अदालत ने 19 अप्रैल, 2017 को कहा था कि भाजपा के वरिष्ठ नेता आडवाणी, जोशी और उमा भारती पर 1992 के राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आपराधिक साजिश के गंभीर आरोप में मुकदमा चलेगा और रोजाना सुनवाई करके इसकी कार्यवाही 19 अप्रैल, 2019 तक पूरी की जायेगी। शीर्ष अदालत ने मध्यकालीन स्मारक को विध्वंस करने की कार्रवाई को ‘अपराध’ बताते हुये कहा था कि इसने संविधान के ‘धर्मनिरपेक्ष ताने बाने’ को हिला कर रख दिया। इसके साथ ही न्यायालय ने भाजपा के इन वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश के आरोप बहाल करने का जांच ब्यूरो का अनुरोध स्वीकार कर लिया था।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने इस न्यायाधीश की पदोन्नति पर इस आधार पर रोक लगा दी थी कि शीर्ष अदालत ने उन्हें मुकदमे की सुनवाई पूरा करने का निर्देश दिया है. न्यायालय ने सीलबंद लिफाफे में यह रिपोर्ट मांगी है. शीर्ष अदालत ने 19 अप्रैल, 2017 को कहा था कि भाजपा के वरिष्ठ नेता आडवाणी, जोशी और उमा भारती पर 1992 के राजनीतिक दृष्टि से संवेदनशील बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में आपराधिक साजिश के गंभीर आरोप में मुकदमा चलेगा और रोजाना सुनवाई करके इसकी कार्यवाही 19 अप्रैल, 2019 तक पूरी की जायेगी.

इसके साथ ही न्यायालय ने भाजपा के इन वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश के आरोप बहाल करने का जांच ब्यूरो का अनुरोध स्वीकार कर लिया था. अयोध्या में छह दिसंबर, 1992 को विवादित ढांचे के विध्वंस की घटना से संबंधित दो मुकदमे हैं. पहले मुकदमे में अज्ञात ‘कारेसवकों’ के नाम हैं जबकि दूसरे मुकदमे में भाजपा नेताओं पर मुकदमा चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here