अमित शाह के बयान ने बंगलादेश से रिश्ता किया खराब,विदेश मंत्री और गृह मंत्री ने अपना भारत दौरा रद्द किया

0
42

नई दिल्ली:बांग्लादेश के विदेश मंत्री अब्दुल मोमिन और गृह मंत्री असदुज़्ज़मान ख़ान ने अपना भारत दौरा रद्द कर दिया है.विदेश मंत्री अब्दुल मोमिन 12 से 14 दिसंबर तक अपनी दो दिवसीय यात्रा पर भारत दौरे पर आने वाले थे. वहीं ख़ान भी 13 दिसंबर को एक पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत भारत आने वाले थे.दरअसल, भारत में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ नॉर्थ ईस्ट में विरोध प्रदर्शन जारी है. ऐसे में सुरक्षा को देखते हुए गृहमंत्री का दौरा रद्द कर दिया गया है.

बांग्लादेश के गृहमंत्री शिलॉन्ग दौरे पर आने वाले थे. शुक्रवार को उनका आने का कार्यक्रम था. वे 13-15 तक शिलॉन्ग में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले थे. असदुज्जमान खान ‘शिलॉन्ग फ्रीडम फाइटर्स वेलफेयर ट्रस्ट’ के कार्यक्रम में शामिल होने वाले थे. इसके बाद उन्हें शिलॉन्ग के इलाकों में दौरा भी करना था.गुरुवार सुबह ही एके. अब्दुल मोमेन ने कहा था कि दुनिया में कुछ ही ऐसे देश हैं, जहां बांग्लादेश जैसा अच्छा सांप्रदायिक सौहार्द है. अमित शाह को कुछ दिन के लिए बांग्लादेश में आना चाहिए, तभी उन्हें बांग्लादेश के सांप्रदायिक सौहार्द का पता लगेगा.

अब्दुल मोमेन ने कहा,दुनिया में कुछ ही ऐसे देश हैं,जहां बांग्लादेश जैसा अच्छा सांप्रदायिक सौहार्द है.अगर वो(अमित शाह) बांग्लादेश में आकर कुछ महीने गुजारेंगे, तो उन्हें हमारे देश में शानदार सांप्रदायिक सौहार्द दिखेगा.’नागरिकता (संशोधन) विधेयक बुधवार को राज्यसभा में पारित हो गया. विधेयक के पक्ष में 125 मत पड़े जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मतदान किया. इससे पहले यह विधेयक सोमवार को लोकसभा में पारित हो चुका है.इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी – हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है. इसके विरोध स्वरूप असम और पूर्वोत्तर के कई राज्यों में प्रदर्शन जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here