भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ने का किया एलान

0
9

मेरठ: भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि पहले तो वह अपने संगठन से कोई मजबूत प्रत्याशी उतारने का प्रयास करेंगे, और प्रत्यासी न मिलने पर वह स्वयं मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे. NDTV से बात करते हुए चंद्रशेखर आजाद ने यह बात कही है. उन्होंने कहा कि मोदी जी को आसानी से जीतने नहीं दूंगा. इससे पहले मेरठ पहुंचकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात की. इससे कांग्रेस-भीम आर्मी में गठबंधन के कयास भी लगाए जाने लगे.

भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर आजाद 15 माह जेल में रह चुके हैं. चंद्रशेखर का जन्म सहारनपुर में छटमलपुर के पास धडकूलि गांव में हुआ था. जिले के एक स्थानीय कॉलेज से उन्होंने कानून की पढ़ाई की. वो पहली बार 2015 में विवादों में घिरे थे. बता दें की भीम आर्मी एक बहुजन संगठन है, जिसे भारत एकता मिशन भी कहा जाता है. ये दलित चिंतक सतीश कुमार के दिमाग की उपज है. इसे 2014 में चंद्रशेखर आजाद और विनय रतन आर्य ने हाशिए वाले वर्गों के विकास के लिए स्थापित किया गया. भीम आर्मी का कहना है कि वह शिक्षा के माध्यम से दलितों के लिए काम कर रहा है.
क्या वह सपा बसपा और कांग्रेस को साथ लाने के लिए प्रयास करेंगे? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि यह मेरे हाथ में नहीं है, पदाधिकारी चाहेंगे तो सपा-बसपा और कांग्रेस एक साथ जरूर होंगे। उन्होंने कहा कि मैं सिर्फ एक सामाजिक कार्यकर्ता हूं। हां लेकिन मोदी को हराने के लिए आखिरी दम तक लड़ेंगे।उधर, मुलाकात के बाद कमरे से बाहर निकलीं प्रियंका गांधी से मीडिया कर्मियों ने सवाल किए तो वह भड़क गईं। पत्रकारों ने पूछा कि क्या चंद्रशेखर कांग्रेस में शामिल होकर किसी सीट से चुनाव लड़ेंगे। इस पर प्रियंका ने पत्रकारों से नाराजगी जाहिर करते हुए सवालों के जवाब दिए। उन्होंने कहा कि आप इसे राजनीति नहीं जोड़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here