बिहार बंद का नंगा नाच,तेजस्वी का बड़ा फैसला और नितीश कुमार की बेचैनी की नई तस्वीर

0
42

पटना: बिहार  में राजद के हजारों समर्थकों ने संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) और प्रस्तावित राष्ट्रव्यापी एनआरसी (NRC) के खिलाफ प्रदर्शन के तहत राज्यव्यापी बंद लागू करने की कोशिश करते हुए शनिवार को रेल और सड़क यातायात बाधित कर दिया. राजधानी पटना में पार्टी के सैकड़ों समर्थक लाठियां और पार्टी के झंडे लेकर रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों में घुस गए लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें खदेड़ दिया. पार्टी समर्थकों में बच्चे भी शामिल रहे. नवादा में बंद समर्थकों ने राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर प्रदर्शन किया. उन्होंने वहां सड़क पर पहिए जलाए जिससे वाहनों का आवागमन बाधित हुआ.

वहीँ कई जगह भारी हिंसा भी हुई। सबसे बड़ी घटना पटना में हुई, जहां दो गुटों के बीच भिड़त के दौरान जमकर पथराव हुआ। इस दौरान हुई फायरिंग में 11 लोगों को गोली लगी, जबकि एक को छुरा भी मारा गया। घटना के दौरान पथराव में आधा दर्जन पुलिसकर्मियों सहित दो दर्जन लोग घायल हो गए। जदयू ने घटना की निंदा की है। जदयू प्रवक्‍ता संजय सिंह ने कहा कि राजद के बिहार बंद ने जंगलराज की याद दिला दी।

उधर, पुलिस ने बिहार में 1375 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया। छह मुकदमे दर्ज किए गए हैं।वहीँ भगलपुर में राजद कार्यकर्ताओं को ज़बर्दस्ती गाड़ी रोकते तो ऑटो रिक्शा का शीशा तोड़ते भी देखा गया ,जिस पर राजद को आज विपक्षी दल ने खूब घेरा है ,अब तेजस्वी यादव ने बड़ा फैसला लेते हुए तत्काल प्रभाव से राजद के उन सभी कार्यकर्ताओं समेत भागलपुर में राजद के जिला अध्यक्ष तिरुपति यादव को पार्टी से बाहर कर दिया है।इन सबके बीच जनता दल यू ने बड़ी बात कही है। जदयू ने पीएम नरेंद्र मोदी काे एनआरसी मामले में पहल करते हुए एनडीए की बैठक बुलाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here