बिहार में बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत

0
262
बिहार में आज वज्रपात से 83 लोगों की मौत हो गई है, वहीं काफी लोग झुलस गए हैं। इनमें से केवल पूर्व बिहार में 22 तथा उत्‍तर बिहार में 23 लोगों की मौत हुई है। बाकी मौतें अन्‍य जिलों में हुई है। मौत का यह आंकड़ा देर रात तक बढ़ भी सकता है। इसके साथ ही उत्तर बिहार सहित कई जिलों में आज काफी तेज बारिश हुई और आंधी-तूफान भी आया। मौसम विभाग ने पहले ही आज और कल के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग द्वारा जारी अलर्ट के अनुसार गुरुवार को अररिया और किशनगंज जिले को रेड जोन में रखा है। पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीवान सारण, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा को ऑरेंज जोन में रखा गया है।
बिहार के 23 जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से मानवीय क्षति हुई है. सबसे ज्यादा मौत गोपालगंज में हुई जहां पर 13 लोग मारे गए. जबकि मधुबनी और नबादा में 8-8 लोग मारे गए.
बिहार में 8 जिले ऐसे हैं जहां पर कम से कम 5 लोगों की मौत हुई है. ये जिले हैं गोपालगंज, पूर्वी चंपारण, सिवान, बांका, दरभंगा, भागलपुर के अलावा मधुबनी और नबादा.
इस बीच मौसम विभाग ने बिहार के लिए 72 घंटे का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग में बिहार में अगले 72 घंटे में भारी बारिश होने को लेकर आज गुरुवार को अलर्ट जारी किया.
मौसम विभाग की ओर से जारी इस अलर्ट में पूरे प्रदेश में अत्यंत भारी बारिश की चेतावनी दी गई है. इस बीच दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में बुधवार को मॉनसून ने दस्तक दे दी, जिसकी वजह से वहां तापमान में गिरावट दर्ज की गई. आज गुरुवार को दिल्ली-NCR के कुछ इलाकों में आंधी आने के साथ-साथ बारिश भी हुई.

 

इधर बिहार सरकार ने मृतकों के परिवार के लिए चार चार लाख के मुआवज़े का एलान किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here