बुलंदशहर:इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या बजरंग दल के लोगों ने की ,अब तक चार गिरफ्तार

0
33

नई दिल्ली :उत्तर प्रेदश के बुलंदशहर जिले के स्याना कोतवाली, महाव गांव में सोमवार को गोकशी के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह समेत एक युवक की भी मौत हो गई। आज सुबोध सिंह का अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस हिंसा में स्याना के सीओ समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए। घटना के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह और ग्रामीण की मौत के मामले की जांच के लिए एडीजी इंटेलीजेंस एसबी शिरडकर को भेजा गया है। उनसे 48 घंटे में अपनी गोपनीय जांच रिपोर्ट देने को कहा गया है।बताया जा रहा है कि गोकशी के बाद हुए बवाल में हमलावर भीड़ ने पुलिसकर्मियों को घेर लिया था। इस दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की पिस्टल छीनकर उनके सिर में गोली मार दी गई। गोकशी के शक पर शुरू हुई ये मामूली घटना आखिर खूनी संघर्ष तक कैसे पहुंच गई, यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने तफ्सील से इस घटनाक्रम की जानकारी दी.उन्होंने बताया, ‘सोमवार सुबह करीब 10.30-11 बजे के बीच बुलंदशहर के थाना स्याना में यह सूचना मिली कि ग्राम मऊ के खेतों में कुछ गोवंश के अवशेष पाए गए हैं. गांव के भूतपूर्व प्रधान ने इसकी शिकायत की थी. जिसके बाद स्याना थाने के पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार पुलिसबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे. पुलिस ने उत्तेजित ग्रामीणों को समझाया और कार्रवाई का आश्वासन दिया गया.

बुलंदशहर हिंसा मामले का मुख्य आरोपी योगेश राज

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, गौहत्‍या की अफवाह के बाद हिंसा भड़कने के आरोप में बजरंग दल के नेता योगेश राज समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। खबर है की इस मामले में जो एफआईआर दर्ज कराई गई है, उसके मुताबिक, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या यानी भीड़ की हिंसा के मामले में योगेश राज को मुख्य आरोपी बनाया गया है. बुलंदशहर हिंसा में योगेश राज मुख्य आरोपी है और यही गौकशी मामले का शिक़ायतकर्ता भी है. बताया जा रहा है कि योगेशराज का संबंध बजरंग दल से है. वह जिला संयोजक बताया जाता है. हालांकि, पुलिस ने योगेश राज को गिरफ्तार कर लिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here