CAA पर 8 मौत के बाद सरकार ने ली अंगड़ाई,मांगा सुझाव

0
37

नई दिल्ली :संशोधित नागरिकता कानून और प्रस्तावित एनआरसी के खिलाफ शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में हिंसक प्रदर्शनों के दौरान पुलिस के साथ झड़प में कम से कम छह लोगों की मौत हो गयी वहीं राष्ट्रीय राजधानी में भी हजारों लोगों ने रैलियां निकालीं तथा शाम होते होते यहां भी हिंसक प्रदर्शन शुरू हो गये जिसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा।

कई राज्यों में सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं जिसके बाद सरकार ने इस तरह का संकेत दिया है कि वह इस संबंध में सुझावों पर विचार करने को तैयार है। दिल्ली के दरियागंज इलाके में प्रदर्शनकारियों ने एक कार को आग के हवाले कर दिया तथा सुरक्षा बलों पर पथराव किया। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए भीड़ पर पानी की बौछार की और लाठी चार्ज किया।

जुमे की नमाज के बाद के यूपी के कई जिलों में माहौल पर फिर खराब हो गया। पुलिस की तमाम सक्रियता के बाद भी एक दर्जन से अधिक जिले भयंकर हिंसा की चपेट में हैं। हिंसा में आठ की मौत हुई है। इनमें बिजनौर व फीरोजाबाद में दो-दो, मेरठ, वाराणसी, कानपुर व संभल में एक-एक जानें गईं है। करीब 15 जिलों में हिंसा की घटनाएं हुई हैं। उपद्रव ग्रस्त जिलें में इंटरनेट सेवा रोक दी गई है।

मेरठ में तीन उप्रद्रवी के मरने की अपुष्ट खबर आ रही है। एसएसपी ने छह लोगों को गोली लगने से घायल होने की बात कही है। ब‍िजनौर में दो के मरने की बात सामने आई है। दोनों के पर‍िजन जरूर पुष्टि कर रहे हैं। फिरोजाबाद में एक उपद्रवी के मारे जाने की सूचना है। फिरोजाबाद और मेरठ में एक-एक पुलिसकर्मी के गोली लगने से घायल होने की भी जानकारी मिली है। वहीं कानपुर में बवाल में घायल 12 लोग एलएलआर अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। इनमें तीन के पेट और एक के सीने में गोली लगी है। वहीं इंटरनेट सेवाएं बाधिक होने के कारण यूपीटीईटी स्थगित कर दिया गया है।फिरोजाबाद के साथ ही गोरखपुर, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, बहराइच, बलरामपुर, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, गोरखपुर, कानपुर, उन्नाव, भदोही तथा गोंडा में भीड़ ने माहौल खराब किया है।

देश में नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) को लेकर मचे बवाल के बीच गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों का कहना है कि नागरिकता कानून के नियमों को बनाने की प्रक्रिया जारी है. इस संबंध में प्रदर्शनकारियों के पास अगर कोई सुझाव है तो वो सरकार को दे सकते हैं.सूत्रों के अनुसार, नागरिकता कानून को लेकर देशभर में मचे बवाल के बीच गृह मंत्रालय ने कहा है कि जो नागरिक हैं वो देश के नागरिक बने रहेंगे. जल्द ही नियम बना दिए जाएंगे. हम इसकी तैयारी में लगे हुए हैं और शीध्र ही इसकी जानकारी दी जाएगी.मंत्रालय ने कहा कि सरकार ने नागरिकता कानून पर प्रदर्शनकारियों से सुझाव मांगे हैं. साथ ही यह भी बताया गया कि नागरिकता कानून के नियमों को बनाने की प्रक्रिया जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here