सावरकर अल्पसंख्यक महिलाओं से बलात्कार करने के लिए उकसाते थे:कांग्रेस

0
7

नई दिल्‍ली: कांग्रेस सेवा दल की बुकलेट में वीर सावरकर और नाथूराम गोडसे के संबंध को लेकर विवादित बयान दिया है। इस बारे में राष्ट्रीय सेवा दल के लालजी देसाई ने कहा है कि लेखक ने इसे सबूतों के आधार पर लिखा है। लेकिन यह हमारे लिए महत्वपूर्ण नहीं है। आज हमारे देश में, हर किसी को अपनी तरजीह को सामने रखने का पूरा अधिकार है।सेवादल की बैठक में जो किताब बांटी गई है उसका नाम है ‘वीर सावरकर, कितने वीर?’इस किताब में लिखा है कि सावरकर जब 12 साल के थे, तब उन्होंने मस्जिद पर पत्थर फेंके थे और वहां की टाइल्स तोड़ दी थी.

यही नहीं, किताब में नाथूराम गोडसे और सावरकर के संबंधों को लेकर भी विवादित टिप्पणी की गई है.इसके अलावा किताब में लिखा है कि सावरकर अल्पसंख्यक महिलाओं से बलात्कार करने के लिए लोगों को उकसाते थे.किताब में यह भी बताया गया है कि सावरकर ने जेल से बाहर आने के लिए अंग्रेजों से लिखित में माफी मांगी है और आश्वासन दिया था कि वो दोबारा किसी राजनीतिक गतिविधि में शामिल नहीं होंगे.

अब सेवादल की बैठक में विवादित किताब बांटने पर बीजेपी ने कड़ा विरोध जताया है.बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि महिलाओं को तन्दूर में जलाने वाली कांग्रेस से उम्मीद भी क्या की जा सकती है? रामेश्वर शर्मा ने कहा है क‍ि कांग्रेस सिर्फ सोनिया गांधी के हाथों की कठपुतली बनकर रह गई है, इसलिए ऐसी बातें करती है क्योंकि उसे इस बात का डर है कि देश मे कश्मीर, अयोध्या और ट्रिपल तलाक पर इतने बड़े फैसले हुए लेकिन एक दंगा नहीं हुआ. इसलिए जानबूझकर मुस्लिमों का वोट लेने के लिए कांग्रेस ऐसा करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here