कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी,मुख्य वादे जानने के लिए क्लिक करें

0
22

नई दिल्ली :कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने, लोकसभा चुनाव 2019 के महासंग्राम के लिए घोषणापत्र जारी कर दिया है। प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए एक-एक कर पार्टी बड़े वादों का पिटारा खोल रही है। इसे जन-आवाज का नाम दिया गया है। सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी राहुल के साथ मौजूद हैं।


कांग्रेस के घोषणापत्र अहम बातें:

-राहुल गांधी ने कहा कि हम हेल्थ सिस्टम ठीक करेंगे.

– राहुल गांधी ने कहा कि जीडीपी का 6 प्रतिशत पैसे हिंदुस्तान की शिक्षा में दिया जाएगा. बेहतर संस्थानों, स्कूलों तक सबकी पहुंच हो, इसके लिए हम यह ऐलान कर रहे हैं.

– राहुल गांधी ने कहा कि अगर किसान कर्जा न दे पाए तो वह क्रिमिनल ऑफेंस न हो, सिविल ऑफेंस हो. यह ऐतिहासिक निर्णय है.

– राहुल गांधी ने कहा कि हमारे घोषणा पत्र में पांच बड़े थीम हैं.

राहुल गांधी ने दिया नारा- गरीबी पर वार, 72 हजार: यह कांग्रेस का पहला वादा है, जिसके अनुसार कांग्रेस पार्टी हर साल गरीबों को 72 हजार रुपये देगी. किसानों और गरीबों के जेब में पहली बार डायरेक्ट पैसा जाएगा.

रोजगार और किसान: देश में युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है. मुझे मैनिफेस्टो कमेटी ने बताया कि 22 लाख सरकारी रोजगार खाली पड़े हैं, उसे कांग्रेस मार्च 2020 तक भर कर देगी. दस लाख युवाओं को ग्राम पंचायत में रोजगार दिया जा सकता है, उसे कांग्रेस पार्टी देगी. उद्यम के लिए भी कांग्रेस पार्टी ने एक आइडिया निकाला है.

-तीन साल तक हिंदुस्तान के युवाओं को बिजनेस खोलने के लिए किसी की अनुमति की जरूरूत नहीं.

-कांग्रेस मनरेगा के तहत अब 150 दिन के रोजगार की गांरटी देगी.

-किसानों के लिए अलग से बजट होना चाहिए.

– राहुल गांधी ने कहा कि मनमोहन सिंह ने इस घोषणा पत्र में अपनी विशेषज्ञता शामिल की. सोनिया गांधी ने अपने विचार दिए.

– राहुल गांधी ने कहा कि हमारे ‘जन आवाज घोषणापत्र’ में एक भी झूठ नहीं है, क्योंकि हम हर दिन पीएम मोदी से झूठ सुनते रहते हैं. इसलिए हम झूठे वादे नहीं करेंगे. हमारी घोषणापत्र समिति ने काफी अच्छे से काम किया है.

– राहुल गांधी ने कांग्रेस का ‘जन आवाज घोषणापत्र’ जारी किया. इस दौरान कांग्रेस के दिग्गज नेता मौजूद दिखे.

– कांग्रेस के घोषणा पत्र में बेरोजगारी और किसान के मुद्दे प्राथमिक तौर पर हैं.

– पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि आज का दिन हमारे लिए ऐतिहासिक दिन है, लोगों की उम्मीद और भविष्य से जुड़ा घोषणापत्र जारी किया जा रहा है. इसे कई लोगों से चर्चा कर तैयार किया जा रहा है. इस मेनिफेस्टो का उद्देश्य गरीबों के लिए काम करना है.
हर साल 20 फीसदी गरीबों को न्याय योजना के तहत 72 हजार रुपये सालाना।
मार्च 2020 तक 22 लाख खाली पड़े पदों को भरा जाएगा।
हिंसक भीड़ पर रोक लगाएंगे, लोकसभा में नया कानून लाएंगे।
युवाओं को पक्का रोजगार मिलेगा।
जीएसटी को आसान बनाया जाएगा।
मनरेगा में 100 दिन से बढ़ाकर 150 दिन रोजगार गारंटी।
3 साल तक नए कारोबारों को किसी मंजूरी की जरूरत नहीं।
ग्राम पंचायत में 10 लाख नौकरियां।
जीडीपी का 6 फीसदी शिक्षा के लिए खर्च होगा।
किसानों के लिए अलग बजट, कर्ज न चुका पाएं तो आपराधिक मामला नहीं।
सरकारी अस्पतालों को मजबूत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here