बड़ी खबर:देश में डेल्टा प्लस वैरिएंट से हुई पहली माैत

0
22

देश में जानलेवा कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरिएंट ने सरकारों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक देश में डेल्टा प्लस वेरियंट के 40 केस हैं. ये 40 केस 8 राज्यों में पाए गए हैं. ये राज्य महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, केरल, पंजाब, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, जम्मू और कर्नाटक हैं. केंद्र सरकार ने कहा है कि डेल्टा+ वेरिएंट ऑफ कंसर्न है. इसलिए राज्यों को सतर्क रहने की जरूरत है. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद अब इसके डेल्टा प्लस वैरिएंट का खतरा बढ़ता जा रहा है। मध्यप्रदेश के उज्जैन में इस वैरिएंट से पहली माैत की पुष्टि हुई है। प्रदेश में अब तक इसके 5 केस सामने आ चुके हैं।

उज्जैन के कलेक्टर आशीष सिंह ने ने बताया कि मध्य प्रदेश में डेल्टा प्लस के 5 मामले सामने आए हैं। इसमें भोपाल में 3 और उज्जैन में 2 मामले हैं। इसमें से उज्जैन के एक मरीज की मौत की पुष्टि हो चुकी है। जिस महिला की मौत हुई है, उसे टीका नहीं लगा था। महिला के पति ठीक हैं, जिन्हें टीका भी लग चुका था।

कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट (B.617.2) भारत ही नहीं दुनिया के तमाम देशों में चिंता बढ़ा ही रहा है, तब तक यह म्यूटेंट होकर डेल्टा प्लस या AY.1 में भी तब्दील हो गया है। डेल्टा वैरिएंट की स्पाइक में K417N म्यूटेशन जुड़ जाने का कारण डेल्टा प्लस वैरिएंट बना है। K417N द. अफ्रीका में पाए गए कोरोना वायरस के बीटा वैरिएंट और ब्राजील में पाए गगए गामा वैरिएंट में पाया गया है। बहरहाल, वैज्ञानिक जीनोम सीक्वेंसिंग के जरिए लगातार नजर बनाए हुए हैं और जल्द ही डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर जीनोम सीक्वेंसिंग बुलेटिन जारी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here