धर्म संकट में फंस गए यूपी के पूर्व मंत्री आज़म खान

0
62

लखनऊ :समाजवादी पार्टी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां के खिलाफ शुक्रवार को हजरतगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है। उन पर शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद के खिलाफ असामाजिक वक्तव्य देने और उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने का आरोप है। लखनऊ में आजम खान के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है. उन पर शिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद के खिलाफ असामाजिक वक्तव्य देने और उनकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने के साथ आरएसएस को भी बदनाम करने का आरोप है. अल्लामा जमीर नकवी ने आजम खान के खिलाफ केस दर्ज कराया है.पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक अल्लामा जमीर नकवी ने पुलिस में दिए गए तहरीर के आधार पर आईपीसी की धारा 500 और 505 के तहत केस दर्ज किया गया है. बता दें कि चार साल पहले सपा सरकार के कार्यकाल का है.

अल्लामा जमीर का आरोप है कि आजम खां ने सरकारी पैड पर चार अगस्त 2014 से 12 अगस्त 2014 तक मौलाना जवात पर गलत आरोप लगाकर लेटर जारी किए साथ ही आरएसएस को बदनाम किया था.चौक के बरौरा हुसैनबाड़ी निवासी अल्लामा जमीर नकवी का आरोप है कि वर्ष 2014 से वह पूर्व मंत्री के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन सपा सरकार के दबाव में पुलिस ने उनकी सुनवाई नहीं की। अल्लामा जमीर नकवी के अनुसार अगस्त 2014 में सरकारी लेटर पैड व मुहर का दुरुपयोग करके शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद, आरएसएस तथा भाजपा का अपमान किया गया था।

आरोपी सपा नेता ने पत्र जारी कर अभद्र भाषाओं का इस्तेमाल किया था। इससे मौलाना की छवि को ठेस पहुंची। यही नहीं आरोप है कि पूर्व मंत्री के इस कृत्य ने दो समुदाय के बीच नफरत फैलाने का भी काम किया था।सर्कल ऑफिसर (सीओ) के मुताबिक आजम खान पर आरोप है कि उन्होंने अखिलेश यादव की सरकार में मंत्री रहते हुए सरकारी लेटरपैड और मुहर का दुरुपयोग कर आरएसएस को बदनाम करने का काम किया.इसके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता अल्लामा जमीर नकवी ने यह भी शिकायत दर्ज कराई कि सरकारी लेटर पैड का गलत इस्तेमाल करते हुए आजम खान ने शिया धर्म गुरु कल्बे जव्वाद को बदनाम कर सामाजिक और धार्मिक विद्वेष फैलाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here