हाफिज सईद और दाऊद यह दोनों हमें विरासत में मिले हुए मसले हैं :पाक पीएम

0
14

नई दिल्ली :आतंकियों की पनाहगाह के तौर पर बदनाम हो चुके पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि हमारी जमीन का इस्तेमाल बाहर आतंकवाद फैलाने में हो, यह उनके देश के हित में भी नहीं है। मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद और मोस्ट वांटेड आतंकी दाऊद इब्राहिम के बारे में पूछे जाने पर पाक पीएम ने कहा कि उनकी सरकार को यह मसले विरासत में मिले हैं। उन्होंने कहा कि अतीत के लिए मुझे जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है। इमरान खान ने आगे कहा कि वह अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत करने के लिए तैयार हैं। इमरान खान से जब भारत के NDTV ने दाऊद इब्राहिम और मुंबई हमले के सरगना हाफिज सईद के बारे में पूछा तब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि पुरानी बातों के लिए मुझे जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. उन्होंने कहा कि जो मैंने कहा, मैं उसपर कायम रहूंगा. पुरानी बातों के लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं. हमसे भी संसद में जवाब तलब होता है. उन्होंने एक बार फिर कहा कि कश्मीर मुद्दा सुलझाया जा सकता है. आतंक के लिए हमारी ज़मीन का इस्तेमाल हमारे हित में नहीं है. उन्होंने कहा कि एकतरफा कदमों से कुछ नहीं होता है. उन्होंने हाफिज सईद के बारे में पूछे जाने पर कहा कि 26/11 का मामला अभी अदालत में है. बता दें कि दाऊद इब्राहित 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाके का आरोपी है. धमाके में 257 लोगों की मौत हो गई और 700 से अधिक लोग घायल हुए थे. इमरान खान ने कश्मीर मुद्दे पर कहा कि दोनों तरफ जो लीडरशिप है वह चाह ले तो कश्मीर मुद्दा आसानी से सुलझाया जा सकता है. इमरान ने न्यूयॉर्क में हुई यूएनजीए के बैठक के बार में कहा कि जिस तरफ से बैठक रद्द किया गया वह सही नहीं है. जिस तरह से मीटिंग रद्द की गई उससे लगता है कि बातचीत करना ही नहीं चाहते. बता दें कि न्यूयॉर्क में बैठक के दौरान सुषमा स्वराज की पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से बैठक होने वाली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here