जीतन मांझी की NDA में ‘घर वापसी’ लगभग तय

0
28

लौट के मांझी घर में आए। हम सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन मांझी का एनडीए में आना लगभग तय हो गया है। मंत्री अशोक चौधरी ने मांझी के घर वापसी का स्वागत किया है। मांझी के पार्टी का जेडीयू में विलय हो सकता है।

इससे पहले महागठबंधन के साथी रहे और हम सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन मांझी ने जेडीयू में शामिल होने का संकेत दिया है। बीते कुछ समय से चल रहे महागठंधन में समन्वय समिति को लेकर चल रहे रार की वजह से पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की राजद से तकरार चल रही थी।

महागठबंधन का हि्स्सा रहे हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, हम के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने 25 तारीख के बाद अलग रुख अपना लेने का एलान कर दिया है तो वहीं राजद ने अभी इसपर चुप्पी साध रखी है।राजद की चुप्पी और महागठबंधन को नया फार्मूला देते हुए राजद को दरकिनार कर दूसरा गठबंधन तैयार करने की बात कहकर मांझी ने राजद को सकते में डाल दिया है। मांझी ने एेलान करते हुए कहा कि 25 जून तक अगर राजद समन्वय समिति बनाने की बात पर सहमत नहीं होती है तो उसके बाद बिना राजद के ही एक अलग गठबंधन तैयार होगा।

RJD समेत अन्य सहयोगियों से नाराज चल रहे मांझी ने 25 जून तक महागठबंधन को अल्टीमेटम दिया है और अगर महागठबंधन ने उनकी मांगों पर विचार नहीं किया तो 26 जून को वह कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं. नीतीश कुमार से समझौते और एनडीए में घर वापसी पर जीतन राम मांझी ने कहा कि राजनीति संभावनाओं का खेल है. नीतीश कुमार भी कभी बीजेपी के विरोधी और लालू के सहयोगी रहे थे तो मुझ पर सवाल क्यों पूछे जा रहे हैं.जीतन राम मांझी के इस बयान पर बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि अगर मांझी जी NDA में आते हैं तो उनका स्वागत होगा. नीतीश कुमार जिताऊ चेहरा हैं और सभी कोई नीतीश कुमार के साथ ही आना चाहते हैं. चौधरी ने कहा कि किसी भी मसले पर अंतिम निर्णय सीएम नीतीश कुमार का होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि राजद और कांग्रेस के कई और चेहरे बहुत जल्द जेडीयू में शामिल होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here