JNU छात्र संघ के चुनाव के लिए ख़ास दिन आज,PRESIDENTIAL DEBATE पर सब की नज़र

0
84

नई दिल्ली :देश की सब से प्रशिद्ध जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में सियासी अखाड़ा शुरू हो चूका है और वह अपने अंतिन चरण में है, चूंकि आज जेएनयू में छात्र संघ चुनाव के लिए होने वाले प्रेसिडेंसियल डिबेट का दिन है और आज के डिबेट का प्रभाव वोटिंग पर सब से अधिक होता है ,यह जेएनयू की ख़ास बात है की वहां के छात्र संघ चुनाव में वोटिंग से दो दिन पहले अध्यक्ष पद के जितने भी उम्मीदवार होते हैं वह सीधे डिबेट में भाग लेते हैं ,पहले छात्रों के सामने अपनी बात रखते हुए अपना एजेंडा सामने रखते हैं फिर उसके बाद छात्रों के प्रश्न का सीधा उत्तर देते हैं।


बता दें की इस बार छात्र संघ चुनाव पर काफी बारीकी से नज़र रखी जा रही है। लेकिन इस बीच सब से बड़ी बात यह निकल कर सामने आ रही है की छात्र संघ के चुनाव में इस बार बड़े उलट फेर की आशंका है ,लेफ्ट अलायन्स के उम्मीदवार को कमज़ोर बताया जा रहा है जबकि कांग्रेस छात्र विंग एनएसयूआई के उम्मीदवार को लम्बे समय बाद मज़बूत उम्मीदवार माना जा रहा है। लेकिन जेएनयू में छात्रों का फैसला ऊपर की मोटी मोटी चीज़ो को देख कर नहीं होता बल्कि जेएनयू के छात्र उम्मीदवारों के अंदर की उस ताक़त को भांपते हैं जो यूनिवर्सिटी की शान को बरक़रार रखने की सलाहियत रखता हो ,यही चीज़ देख कर जेएनयू के छात्रों का वोट उम्मीदवारों के खाते में जाता है।

आज का दिन जेएनयू में छात्र संघ के चुनवा के लिए सब से ख़ास और अहम है चूँकि आज ही यह साफ़ होने की संभावना है की इस बार छात्रों की पसंद का उम्मीदवार कौन है ,और अभी जो माहौल देखने को मिल रहा है वह NSUI के हक़ में जाता हुवा नज़र आ रहा है,चूंकि छात्रों की तरफ से यह कहा जा रहा है की लेफ्ट अलायन्स के पास इस बार मज़बूत उम्मीदवार नहीं है जिसके कारण NSUI के सफल होने की उम्मीद बढ़ती नज़र आ रही है ,लेकिन समय से पहले कुछ भी निर्णायक बातें नहीं होती और ख़ास कर जेएनयू के छात्र संघ के चुनाव के लिए ऐसा मान लेना किसी हद तक सही नहीं है चूंकि यह JNU है,यहां अंतिन समय पर कुछ भी हो सकता है।
बता दें की इस बार LEFT यूनिटी की तरफ से अध्यक्ष पद के लिए AISHE GHOSE को उम्मीदवार बनाया गया है जबकि NSUI की तरफ से प्रशांत कुमार ,राजद की तरफ से प्रियंका भारती ,BAPSA की तरफ से जितेंद्र सुना ,ABVP की तरफ से मनीष जांगिड़ को अध्यक्ष पद लिए मैदान में उतारा गया है। याद रहे की इस बार के चुनाव में NSUI और MSF (मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन) का गठबंधन है वहीं बापसा के साथ फटर्निटी का गठबंधन है। JNUSU के लिए 6 सितम्बर को वोट डाले जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here