मणिशंकर अय्यर का विवादित बयान,पूछा,किसे मालूम की कहां पैदा हुए ”राम ”

0
25

नई दिल्ली :अपने विवादित बयानों से कांग्रेस नेतृत्व के लिए परेशानी पैदा करने वाले मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है. एक कार्यक्रम में मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि राजा दशरथ एक बहुत बड़े राजा थे, उनके महल में 10 हजार कमरे थे, लेकिन भगवान राम किस कमरे में पैदा हुए ये बताना बड़ा ही मुश्किल है. मणिशंकर अय्यर सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया द्वारा दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम ‘एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम’ में शिरकत कर रहे थे.लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राम मंदिर पर राजनीति जोरों पर हैं.

आए दिन राजनेताओं के तीखे बयानों और दावों से मुद्दा गर्माता जा रहा है. इसी कड़ी में अपने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बड़ा ही विवादित बयान दिया है. अय्यर ने सीधे तौर पर सवाल उठाते हुए कहा कि मंदिर वहीं बनाएंगे का मतलब क्या है? अय्यर ने राजधानी दिल्ली में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम ‘एक शाम बाबरी मस्जिद के नाम’ में बोलते हुए कहा कि बीजेपी और संघ राम मंदिर के मुद्दे पर सियासत कर रही है. वे लोग कहते हैं कि राम कसम की खाते हैं मंदिर यहीं बनाएंगे, इसका क्या मतलब है.

मणिशकंर अय्यर ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ” हम कहते हैं मंदिर आप जरूर बनाइए अयोध्या में, यदि आप चाहते हैं, लेकिन आप कैसे कह सकते हो कि मंदिर वहीं बनाएंगे. मंदिर वहीं बनाने का क्या मतलब बना. दशरथ एक बहुत बड़े महाराजा थे. कहा जाता है उनके महल में 10 हजार कमरे थे…कौन जानता है कि कौन सा कमरा कहां था. इसलिए ये कहना कि क्योंकि हम सोचते हैं कि हमारे भगवान राम यहीं पैदा हुए थे. इसलिए वहीं बनाना है और क्यों कि एक मस्जिद है वहां, इसलिए हम उसके पहले तोड़ेंगेऔर उसकी जगह हम बनाएंगे. हम ये कहें कि अल्लाह में भरोसा रखना कोई गलत चीज है एक हिन्दुस्तानी के लिए.”

एक और घटनाक्रम में पीएम मोदी द्वारा जवाहर लाल नेहरु पर की गई टिप्पणी का जिक्र करते हुए मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के लिए असंसदीय शब्द का इस्तेमाल किया था. समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने कहा था, “ये आदमी बहुत #$%%& किस्म का आदमी है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है…और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की कोई आवश्यकता नहीं है.” हालांकि राहुल गांधी की फटकार के बाद मणिशंकर अय्यर ने तुरंत अपने बयान के लिए माफी मांगी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here