बाबरी मस्जिद केस पर पीएम मोदी ने कही ”मन की बात”

0
31

नई दिल्ली :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देशवासियों को दीपावली की शुभकामनाएं दी। उन्होंने ‘मन की बात’ कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए कहा, “आज दीपावली का पावन पर्व है। आप सबको दीपावली की बहुत बहुत शुभकामनाएं।” इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा, “कहा आजकल दुनिया के अनेक देशों में दिवाली मनायी जाती है। इसमें सिर्फ भारतीय समुदाय शामिल होता है, ऐसा नहीं है बल्कि अब कई देशों की सरकारें, वहां के नागरिक दिवाली को पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। एक प्रकार से वहां ‘भारत’ खड़ा कर देते हैं।”

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में सरदार पटेल और देश की एकता का जिक्र करते हुए अयोध्या केस पर भी अपनी बात कही। पीएम मोदी ने कहा कि देश की एकता और अखंडता के लिए समाज किस तरह से सतर्क रहा है, इसका उदाहरण सितंबर 2010 में इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले से मिला था। उन्होंने कहा, ‘हमारा समाज हमेशा से देश की एकता और सद्भाव के लिए सतर्क रहा है। मुझे याद है कि जब सितंबर 2010 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने राम मंदिर पर अपना फैसला सुनाया तो भांति-भांति के लोग मैदान में आ गए थे। कुछ बयानबाजों और बड़बोलों ने सिर्फ खुद को चमकाने के लिए न जाने कैसी-कैसी बातें की थीं, लेकिन जैसे ही फैसला आया तो आनंददायक बदलाव देश ने महसूस किया।’
पीएम मोदी ने कहा कि गुरु नानक ने निस्वार्थ भाव से समाज और देश की सेवा की. उनके इस सेवाभाव से कई सारे संत भी प्रभावित हुए. गुरुनानक देव ने अपना संदेश दुनिया में दूर-दूर तक पहुंचाया. वे अपने समय में सबसे अधिक यात्रा करने वालों में से थे. गुरुनानक देव ने छुआछूत जैसी सामाजिक बुराई के खिलाफ मजबूती के साथ खड़े रहे.

पीएम ने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियों, पिछली मन की बात में हमने तय किया था कि इस दीपावली पर कुछ अलग करेंगे. मैंने कहा था आइए, हम सभी इस दीपावली पर भारत की नारी शक्ति और उनकी उपलब्धियों को सेलिब्रेट करें, यानी भारत की लक्ष्मी का सम्मान करें.

पीएम मोदी ने कहा कि आजकल दुनिया के अनेक देशों में दिवाली मनाई जाती है. विशेष बात यह है कि इसमें सिर्फ भारतीय समुदाय ही शामिल नहीं होता बल्कि अब कई देशों की सरकारें और वहां के नागरिक दिवाली में शामिल होते हैं. पीएम ने कहा कि दुनिया भर में फेस्टिवल टूरिज्म का अपना ही आकर्षण है. हमारा भारत जो त्योहारों का देश है, उसमें फेस्टिवल टूरिज्म की भी अपार संभावनाएं हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here