नाथूराम गोडसे तालिबानी था :मुनव्वर राना

0
18

अफगानिस्तान में तालिबान शासन की स्थापना के बाद भारत के साथ-साथ दुनिया में भी तरह-तरह के बयान दिए जा रहे हैं। मशहूर शायर मुनव्वर राणा ने तालिबान के बारे में बात करते हुए कहा कि अफगानिस्तान में जितना ज़ु-ल्म हो रहा है उससे कहीं ज्यादा भारत में ज़ु-ल्म और अ-त्याचार होता है। उन्होंने कहा कि पहले रामराज थे लेकिन अब कामराज हैं, राम के साथ काम है तो ठीक है, नहीं तो कुछ भी नहीं।

मुनव्वर राणा ने कहा कि भारत को तालिबान से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अफगानिस्तान भारत के साथ हजारों सालों से जुड़ा हुआ है और इसने भारत को कभी नुकसान नहीं पहुंचाया है। जब मुल्ला उमर सत्ता में थे, तब भी उन्होंने भारत को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया, जैसा कि उनके पूर्वजों ने भारत से अर्जित किया था।

मुनव्वर राणा ने कहा कि भारत में माफियाओं के कब्जे में तालिबान से अधिक एके-47 हैं। तालिबान हथियार छीन कर या मांग कर लता है,लेकिन हमारे देश में माफिया हथियार खरीदता है।उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा देवबंद में एटीएस केंद्र खोले जाने पर मुनव्वर राणा ने कहा कि जब तक योगी सरकार है, वह कुछ भी कर सकती है. लेकिन मौसम हमेशा एक जैसा नहीं रहता। धर्मांतरण जैसे मुद्दे देश को ब-र्बाद करते हैं लेकिन हम चाहते हैं कि हमारा देश पहले जैसा हो।

मुनव्वर राणा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी कुछ तालिबान हैं, केवल मुसलमान ही नहीं हिंदू तालिबान भी हैं। आ-तंक-वादी सिर्फ मुसलमान नहीं होते हैं, हिंदू भी होते हैं! महात्मा गांधी सीधे थे और नाथूराम गोडसे तालिबान थे। यूपी में तालिबान जैसा ही काम हो रहा है।हाल ही में समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुल रहमान बरक ने भी तालिबान सेनानियों की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों से की थी। जिसके बाद उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here