कांग्रेस ने तीनों राज्यों में किसानों से किया हुवा वादा पूरा कर दिया

0
15

जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार सुबह कार्यभार संभालने सचिवालय पहुंचे। इससे पहले उन्होंने सचिवालय परिसर में बने मंदिर में पूजा-अर्चना की। यहां बनी महात्मा गांधी की प्रतिमा पर फूल अर्पित कर नमन किया, इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय में पहुंचकर पदभार ग्रहण किया।अशोक गहलोत के साथ सीएस डीबी गुप्ता समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। गहलोत ने सभी अधिकारियों के साथ मीटिंग की, जिसमें किसानों के कर्ज माफी के संबंध में भी चर्चा की गई। इसके साथ ही सचिवालय के कर्मचारियों ने भी फूल देकर नए मुख्यमंत्री का स्वागत किया। कुछ पूर्व अफसर भी अशोक गहलोत से मिलने सचिवालय पहुंचे। वहीँ अपने पहले दिन ही कई अहम फैसले कर दिए जिन में सब से अहम किसानों के कर्ज माफ़ी का फैसला रहा। किसानों की कर्जमाफी के नाम पर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की सत्ता में आई कांग्रेस की नवनिर्वाचित सरकारों ने अपने घोषणापत्र में किए वायदों को अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है. कमलनाथ, भूपेश बघेल के बाद अब अशोक गहलोत सरकार ने भी किसानों के ऋण माफी का ऐलान कर दिया.

राजस्थान सरकार ने किसानों द्वारा 30 नवंबर 2018 तक लिए गए 2 लाख तक के कर्ज माफ करने का आदेश जारी कर दिया है.दरअसल विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में वायदा किया था कि अगर पार्टी सत्ता में आई तो किसानों के 2 लाख तक के ऋण माफ किए जाएंगे. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथग्रहण के चंद घंटों बाद ही किसानों के कर्जमाफी संबंधी फाइलों पर दस्तखत कर दिए थें. जिसके बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ ग्रहण के फौरन बाद कर्जमाफी की घोषणा कर दी थी.मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कर्जमाफी का जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वादा किया था, जिसे 10 दिन के भीतर पूरा करना था. इस आदेश के तहत कोऑपरेटिव बैंकों के किसान का पूरा कर्ज माफ होगा.

जबकि जो किसान कमर्शियल बैंक के ऋण नहीं चुका पाए और बैंक के डिफाल्टर हैं, उनका दो लाख तक का कर्ज माफ होगा. उन्होंने बताया कि वसुंधरा सरकार ने 2000 करोड़ तक का कर्ज माफ किया था और 8000 का करोड़ का कर्ज़ छोड़ दिया. इस ऋण माफी से सरकार पर 18000 करोड़ का भार पड़ेगा और 30 नवंबर 2018 तक के ऋण माफ किए जाएंगे.इस तरह से कांग्रेस ने तीनों राज्य यानी मध्यप्रदेश ,राजस्थान और छत्तीसगढ़ में किसानों से किया अपना वादा पूरा कर दिया ,चूँकि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ ने तो पहले ही क़र्ज़ माफ़ी का एलान कर दिया था और अब राजस्थान सरकार ने भी एलान कर के अपना वादा पूरा कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here