राम मंदिर ट्रस्‍ट के दो और सौदे में घोटाले का आरोप

0
24

. यूपी के अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट (Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust) द्वारा राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन में घोटाले से जुड़े एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं. इसको लेकर सपा और कांग्रेस के साथ आम आदमी पार्टी इन दिनों राम मंदिर ट्रस्ट के आरोपी ट्रस्टियों के साथ बीजेपी नेताओं पर जमकर निशाना साधती नजर आ रही है. इसके बीच आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह (AAP MP Sanjay Singh) ने एक बार फिर जहां राम मंदिर के लिए खरीदी जा रही जमीन में धांधली से जुड़े कई अन्य साक्ष्य पेश किए हैं, तो वहीं अयोध्या से भाजपा के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय (BJP Mayor Rishikesh Upadhyay) और उनके परिवार से जुड़े लोगों पर सस्ती दर में जमीन खरीद कर कई गुना महंगी दर पर राम मंदिर ट्रस्ट को बेचे जाने का भी आरोप लगाया है.
बताया जा रहा है कि इन सौदों में अयोध्‍या के मेयर ऋषिकेश उपाध्‍याय के भतीजे दीप उपाध्‍याय की बड़ी भूमिका है।

दीप नारायण ने 20 लाख रुपये में खरीदी गई जमीन राम मंदिर ट्रस्‍ट को ढाई करोड़ रुपये में बेची है। इसके अलावा एक और जमीन जिसकी कीमत 27 लाख रुपये है, उसे भी दीप ने ट्रस्‍ट को एक करोड़ रुपये में बेचा है। इस सौदे के दौरान ट्रस्‍ट के अनिल मिश्रा मौजूद रहे और उनकी उपस्थिति में जमीन का पैसा दीप नारायण के खाते में ट्रांसफर किया गया।
बताया जा रहा है कि इस साल 20 फरवरी को दीप नारायण ने अयोध्‍या के महंत से 20 लाख रुपये में एक जमीन खरीदी थी। सर्किल रेट के हिसाब से इस जमीन की कीमत 35.6 लाख रुपये आंकी गई। करीब 3 महीने बाद मई में दीप नारायण ने इस जमीन को राम मंदिर ट्रस्‍ट को ढाई करोड़ रुपये में बेच दिया। इसके अलावा करीब 677 वर्ग मीटर जमीन भी दीप ने ट्रस्‍ट को एक करोड़ रुपये में बेचा है। सर्किल रेट के हिसाब से इस जमीन की कीमत केवल 27 लाख बताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here