साध्वी प्रज्ञा के विवादित ब्यान से मुश्किल में भाजपा ,साध्वी ने ब्यान पर मांगी माफ़ी

0
5

नई दिल्ली :भोपाल संसदीय सीट से बीजेपी उम्मीदवार और मालेगांव बम विस्फोट मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने आतंकी हमले में शहीद हुए एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर दिया बयान वापस ले लिया है। उन्होंने कहा कि यह मेरा निजी बयान था, जो कि मैंने सही गई पीड़ा की वजह से दिया है। आतंकी हमले में शहीद होने वाले व्यक्ति का सम्मान करना चाहिए। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान की चौतरफा निंदा हो रही है. उन्होंने मुंबई हमले में शहीद आइपीएस अफसर हेमंत करकरे के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया है. उन्होंने कहा ‘वह (करकरे) तमाम सारे प्रश्न करता था, ऐसा क्यों हुआ, वैसा क्यों हुआ? मैंने कहा मुझे क्या पता भगवान जाने.. मैंने कहा था तेरा सर्वनाश होगा.’ इसी दौरान साध्वी ने यह भी कहा कि यह देशद्रोह था, यह धर्मविरुद्ध था. उनके इस बयान की IPS एसोसिएशन ने भी निंदा की है. एसोसिएशन ने ट्वीट कर कहा, ‘अशोक चक्र से सम्मानित दिवंगत IPS हेमंत करकरे ने आतंकियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया. वर्दी पहने हम सभी लोग एक उम्मीदवार के अपमानजनक बयान की निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि हमारे शहीदों का सम्मान किया जाए.
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बिना नाम लिए साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा की है. राहुल ने ट्विटर पर लिखा, ‘हेमंत करकरे ने देश को बचाने के लिए जान गंवाई थी. सभी को उनका सम्मान करना चाहिए.मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बगैर किसी का नाम लिए अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि शहादत के अपमान का हक किसी को नहीं है.कांग्रेस ने भी साध्वी के बयान को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है. हालांकि कुछ देर बाद बीजेपी ने साध्वी प्रज्ञा के बयान से दूरी बना ली. पार्टी ने कहा, ‘यह उनका निजी बयान है. बीजेपी का स्पष्ट मानना है कि स्वर्गीय हेमंत करकरे आतंकियों से बहादुरी से लड़ते हुए वीरगति को प्राप्त हुए. बीजेपी ने हमेशा उन्हें शहीद माना है.मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भोपाल से बीजेपी उम्मीदवार प्रज्ञा सिंह ठाकुर के 26/11 हमले के शहीद (मुंबई ATS के पूर्व चीफ हेमंत करकरे) पर की गई उनकी टिप्पणियों के खिलाफ शिकायत मिली है. अधिकारी ने कहा कि हमने इसका संज्ञान लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here