बाबरी मस्जिद तोड़वाने पर मुझे गर्व है :साध्वी प्रज्ञा

0
40

नई दिल्ली :भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को चुनाव आयोग की तरफ से एक और कारण बताओ नोटिस जारी हुआ है। इस बार आयोग ने एक टीवी चैनल पर बाबरी मस्जिद को लेकर उनकी टिप्पणी के बाद भोपाल जिला निर्वाचन अधिकारी ने उन्हें यह नोटिस जारी किया है।भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शनिवार को एक और विवादास्पद बयान दिया है। अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर उन्होंने दावा किया कि मैं उसे तोड़ने गई थी। ढांचे पर चढ़कर उसे तोड़ा। इस पर मुझे गर्व है। ईश्वर ने मुझे अवसर और शक्ति दी थी, इसलिए मैंने यह काम कर दिया। मैंने देश का कलंक मिटाया था।
अयोध्या का विवादित ढांचा गिराए जाने को लेकर साध्वी प्रज्ञा का यह बयान महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि भाजपा के सभी नेता सीधे तौर पर इसको लेकर कुछ भी कहने से बचते रहे हैं। गौरतलब है कि इससे पहले मुंबई हमले में शहीद हुई आइपीएस हेमंत करकरे को साध्वी ने देशद्रोही कहा था। बवाल मचा तो बोलीं-मेरे शब्दों से यदि दुश्मनों को फायदा होता है तो मैं बयान वापस लेती हूं।अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने पर क्या कोई अफसोस है, इस सवाल पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा, ‘ढांचा गिराने का अफसोस क्यों होगा, उस पर तो हम गर्व करते हैं. राम के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे, उन्हें हमने हटा दिया. इससे हमारे देश का स्वाभिमान जागा है और हम भव्य राम मंदिर मनाएंगे’. उन्होंने खुद ये दावा किया है कि वो बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने में शामिल थीं.

लेकिन पिछले पांच साल राम मंदिर क्यों नहीं बन पाया इस सवाल पर साध्वी प्रज्ञा ने कहा,’समय देखो 70 साल हो गए, उन्होंने क्या हाल किया और हमारे देवस्थान भी सुरक्षित नहीं हो पाए. हिंदुओं ने इकट्ठे होकर स्वाभिमान को जागृत किया है ढांचा तोड़कर और भव्य मंदिर बना करके आराधना करेंगे’. साध्वी ने कहा कि राम मंदिर हमारे लिए राजनीतिक विषय नहीं है. उन्होंने कहा इस देश में राम मंदिर नहीं बनेगा तो कहां बनेगा.इस तरह बम धमाकों के आरोप में जेल की सजा काट चुकीं साध्वी प्रज्ञा सिंह ने पहले एक अफसर की शहादत पर सवाल उठाए थे और अब बाबरी मस्जिद गिराने पर गर्व की बात कहते हुए फिर से राम मंदिर का मुद्दा उठा दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here