जल्द शाह फैसल भी राजनीती से सन्यास का कर सकते हैं एलान

0
6

नई दिल्ली : जवारहलाल नेहरू विश्वविद्यालय की पूर्व छात्र नेता शेहला रशीद, जिन्होंने मार्च में पूर्व आईएएस अफसर शाह फैसल की पार्टी जम्मू एंड कश्मीर पीपल्स मूवमेंट (जेकेपीएम) ज्वाइन की थीं, बुधवार को चुनावी राजनीति से बाहर हो गईं. रशीद ने इस कदम के लिए उन्हें ‘मजबूर’ करने के लिए ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल चुनाव की घोषणा को जिम्मेदार ठहराया.जम्मू कश्मीर में दो महीने के प्रतिबंध के बाद तीन मुख्यधारा के नेताओं को रिहा कर दिया गया. आने वाले सप्ताह में प्रशासन कुछ और नेताओं को को छूट दे सकता है. शाह फैजल भी उन्हीं नेताओं में से हैं, जिन्हें जल्द छोड़ा जा सकता है. लेकिन वह राजनीति छोड़ सकते हैं. इन नेताओं को 5 अगस्त के बाद तभी डिटेन किया गया था, जब सरकार ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 में बदलाव कर विशेष दर्जा खत्म किया था.
फैजल से जुड़े सूत्रों के अनुसार, वह रिहा होने के बाद मुख्यधारा की राजनीति को छोड़ सकते हैं. माना जा रहा है कि वह राजनीति छोड़ अमेरिका पढ़ाने के लिए जा सकते हैं. वही पार्टी के अन्य नेता फैसल को मनाने में में जुटे हुए हैं ,लेकिन ऐसा कम माना जा रहा है की शाह फैसल ने अपना मन बना लिया है और बहुत मुमकिन है की वह जल्द राजनीती से सन्यास ले सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, 5 अगस्त को हुए घटनाक्रम के बाद उनका राजनीति से मोह भंग हो चुका है.14 अगस्त को शाह फैजल को दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ान भरने से रोक दिया गया था, तब उन्हें वापस श्रीनगर भेज दिया गया था. यहां उन्हें डिटेन कर रखा गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here