बाबरी मस्जिद मामले में अब कपिल सिब्बल का आया बयान

0
47

नई दिल्ली :देश में राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रही बहस के बीच सुप्रीम कोर्ट में कल अयोध्या विवाद पर सुनवाई हुई. सोमवार को अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई मात्र 3 मिनट में ही टल गई. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने अब इस मामले के लिए जनवरी, 2019 की तारीख तय की है. यानी अब ये मामला करीब 3 महीने बाद ही कोर्ट में उठेगा.सुनवाई में विवादित भूमि को तीन भागों में बांटने वाले 2010 के इलाहाबाद हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ दायर याचिकाओं पर होनी थी. सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि ये मामला अर्जेेंट सुनवाई के तहत नहीं सुना जा सकता है.

वहीँ दूसरी तरफ इस फैसले के बाद एक तरफ जहां केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि अब हिन्दुओं का सब्र अब टूट रहा है और मुझे भय है कि सब्र टूटा तो क्या होगा। तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने राम मंदिर को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है।राम मंदिर पर कपिल सिब्बल ने मंगलवार को कहा कि अयोध्या केस की सुनवाई का फैसला कोर्ट करेगा। इसे बीजेपी या कांग्रेस नहीं करेगी। अगर वे कानून बनाना चाहते हैं तो बनाएं। कांग्रेस उन्हें नहीं रोकेगी। चुनाव को देखते हुए यह मुद्दा उठाया गया।

क्या वे पिछले चार वर्षों से सो रहे थे।वहीं एआईएमआईएम के प्रमुख सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा,” वह राम मंदिर पर अध्यादेश क्यों नहीं लाते हैं? उन्हें लाने तो दीजिए। हर बार वे हमें डराते की कोशिश करते रहते हैं कि वे इस पर अध्यादेश ले आएंगे। भाजपा, आरएसएस और वीएचपी का हर नेता यही बात कहता है। आप लाइए अध्यादेश। आप सत्ता में हैं। मैं आपको चुनौती देता हूं कि आप करके दिखाइए। हम भी देखेंगे।” बता दें कि सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ये बातें सुप्रीम कोर्ट के द्वारा आज विवादित भूमि मामले की सुनवाई जनवरी तक टालने के फैसले के बाद कही।बता दें की अदालत में जब यूपी सरकार के वकील ने कहा कि ये 100 साल पुराना विवाद है। इसे प्राथमिकता के आधार पर निपटाया जाना चाहिए। इस पर चीफ जस्टिस ने कहा,”हमारी अपनी प्राथमिकताएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here