जब मोदी जी राजनीती छोड़ेंगे,मैं भी सन्यास ले लुंगी: स्मृति ईरानी

0
57

नई दिल्ली :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कई बार सार्वजनिक तौर पर अपना रोल मॉडल बता चुकीं केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अगर पीएम मोदी राजनीति से संन्यास लेते हैं तो वह भी संन्यास ले लेंगी। वर्ड्स काउंट फेस्टिवल कार्यक्रम में हिस्सा लेने पुणे पहुंची स्मृति इरानी ने परिचर्चा के दौरान यह बड़ा बयान दिया। बता दें कि अमेठी में 2014 में चुनाव प्रचार के दौरान स्मृति को पीएम मोदी ने छोटी बहन कहकर संबोधित किया था। उन्होंने ‘वर्ड्स काउंट महोत्सव’ में एक परिचर्चा के दौरान यह कहा. जब एक श्रोता ने उनसे पूछा कि वह कब ‘प्रधान सेवक बनेंगी. दरअसल, इस शब्द का इस्तेमाल मोदी खुद के लिए करते हैं.

केंद्रीय मंत्री ने इस पर जवाब दिया, “कभी नहीं. मैं राजनीति में बेहतरीन नेताओं के साथ काम करने के लिए आई हूं और इस मामले में मैं बेहद सौभाग्यशाली रही हूं कि मैंने दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी जैसे दिग्गज नेता के नेतृत्व में काम किया और अब मोदी जी के साथ काम कर रही हूं.” उन्होंने कहा, जिस दिन ‘प्रधान सेवक’ नरेंद्र मोदी राजनीति से संन्यास ले लेंगे, मैं भी भारतीय राजनीति को अलविदा कह दूंगी.बता दें कि यह शब्द अमूमन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र सरकार के मुखिया के तौर पर अपनी भूमिका का विवरण देने के लिए प्रयोग करते हैं।

इस दर्शक के सवाल के जवाब में ईरानी ने कहा, कभी नहीं, मैं राजनीति में करिश्माई नेताओं के नेतृत्व में काम करने के लिए आई थी। मैं भाग्यशाली हूं कि स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के निर्देशन में काम किया और अब मोदी जी के नेतृत्व में काम कर रही हूं। उन्होंने आगे कहा, जिस दिन प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी अपने जूते टांगने का निर्णय लेंगे, मैं भी भारतीय राजनीति छोड़ दूंगी।
बता दें कि बीजेपी के कद्दावर नेताओं में स्मृति ईरानी का नाम आता है. मौजूदा समय में गुजरात से राज्यसभा सदस्य हैं. वो दूसरी बार राज्यसभा सदस्य चुनी गई हैं. बीजेपी ने उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी संसदीय सीट से उतारा था. हालांकि 2014 के लोकसभा चुनाव में वो जीत नहीं सकी थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here