भारत सरकार देखती रह गई और स्विस बैंक ने अपना पैसा निकालने के लिए मालिया के खिलाफ उठाया बड़ा क़दम

0
73

नई दिल्ली :भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को ब्रिटिश हाईकोर्ट से स्विस बैंक यूबीएस से कर्ज के मामले बड़ा झटका लगा है। ब्रिटिश हाईकोर्ट ने गुरुवार को कहा है कि स्विस बैंक माल्या के लंदन स्थित घर को जब्त कर सकता है।स्विस बैंक यूबीएस द्वारा कर्ज की वसूली के लिए जब्ती की कार्रवाई के खिलाफ माल्या की कानूनी टीम द्वारा दी गई सभी दलीलों को यूके हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। मामले की फाइनल सुनवाई मई 2019 में होगी। गौरतलब है कि भारत सरकार ब्रिटेन से माल्या का प्रत्यर्पण कराने की कोशिश कर रही है। भारत में माल्या की कई संपत्तियां भी जब्त हो चुकी हैं। अब इस कारोबारी के हाथ से लंदन का घर भी निकलता दिख रहा है। दरअसल, स्विस बैंक यूबीएस ने गिरवी रखकर लिए 2.04 करोड़ पाउंड (195 करोड़ रुपये) के कर्ज की अदायगी नहीं करने पर सेंट्रल लंदन के कॉर्नवॉल टेरेस स्थित संपत्ति को जब्त करने की मांग की थी। यूके के हाईकोर्ट ने यूबीएस की याचिका को उचित बताते हुए माल्या की दलीलें खारिज कर दीं। यूबीएस ने इस पर खुशी जताई है। जज ने कहा कि ऐसा कोई तथ्य नहीं दिखता, जिसके आधार पर माल्या को अपना पक्ष रखने के लिए अब और मौके दिए जाने चाहिए।माल्या ने मार्च 2012 में अपने बंगले को गिरवी रख यूबीएस से उसके कुल मूल्य के बराबर 195 करोड़ रुपए का लोन लिया था। अपने परिवार के ट्रस्ट की कंपनी रोज कैपिटल वेंचर्स के जरिए कर्ज लिया गया था। बैंक का कहना है कि बंगले की मॉर्गेज लोन अवधि गुजर जाने के बाद भी भुगतान नहीं किया गया।पिछले साल 26 मार्च को मॉर्गेज लोन की अवधि पूरी हो गई। लेकिन, माल्या ने यूबीएस को पैसा नहीं चुकाया। इस वजह से यूबीएस बंगले को कब्जे में लेकर बेचना चाहता है। इस बंगले में माल्या का परिवार और उसके कॉर्पोरेट गेस्ट रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here