वामिक जफीर को पप्पू यादव ने दिया टिकट ,शिवहर में होगा त्रिकोणीय मुक़ाबला

0
405

शिवहर : बिहार विधानसभा के चुनाव में इस बार एक नहीं बल्कि अनेकों गठबंधन बन गए है ,एनडीए का गठबंधन अलग ,कांग्रेस राजद का महागठबंधन अलग ,रालोसपा एमआईएम का गठबंधन अलग और जन अधिकार पार्टी व भीम आर्मी यानी आजाद समाज पार्टी का गठबंधन अलग. इन सभी गठबंधनों में सीटों का बटवारा चल रहा है और अब तक शिवहर विधान सभा को लेकर काफी खींचातानी देखने को मिल रहा था चूँकि स्थानीय नेता राजद और जदयू दोनों के पास थे ,जदयू ने अपने पुराने चेहरे पर भरोसा करते हुए शरफुद्दीन को एक बार फिर टिकट दिया वहीँ महागठबंधन ने लोकसभा की तरह इस बार विधानसभा में भी पैरासूट उम्मीदवार को टिकट दे दिया है ,चार दिन पहले राजद की सदस्य्ता लेने वाली लवली आनंद के पुत्र को राजद ने शिवहर से टिकट दिया है ,जिस से शिवहर में राजद और महागठबंधन के कार्यकर्ता कुछ ज़्यादह खुश नहीं दिख रहे हैं।
इधर दूसरी तरफ कम समय में शिवहर में अपनी अलग पहचान बनाने वाले वामिक जफीर पर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने भरोसा करते हुए शिवहर विधान सभा से टिकट दे दिया है ,ऐसे में वामिक जफीर का शिवहर के सियासी मैदान में आना दस वर्षों से एमएलए की कुर्सी पर ब्राजमान जदयू नेता शरफुद्दीन के लिए मुक़ाबला काफी मुश्किल हो गया है.

राजद ,जदयू के बीच इस लड़ाई में वामिक जफीर को सीधे तौर पर फ़ायदा होता हुआ दिखाई दे रहा है ,लेकिन जनता जनार्दन है वह जिसे अपना नेता माने ,लेकिन सियासी पंडितों का मानना है की शिवहर के स्थानीय एमएलए के दस वर्षों के कार्य से जनता खुश नहीं है और राजद ने ऐसा उम्मीदवार उतारा है जो शिवहर की जनता के लिए नया चेहरा है ,ऐसे में वामिक जफीर के लिए रास्ता कुछ आसान हो सकता है। लेकिन पप्पू यादव के नाम पर लोग वामिक के साथ जाएंगे या नहीं यह कहना अभी मुश्किल है लेकिन शिवहर की जनता को एक शिक्षित युवा और शिवहर को जानने समझने वाले नेता की ज़रूर तलाश है। याद रहे की पप्पू यादव की पार्टी जाप का चुनाव निशान कैंची है.


आपने को बता दें की जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने पिछले दिनों प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन यानी पीडीए बनाने की घोषणा की थी । इस गठबंधन में चंद्रशेखर आजाद की अध्यक्षता वाली आजाद समाज पार्टी, एमके फैजी के नेतृत्व वाली सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी यानी एसटीपीआई और बीपीएल मातंग की बहुजन मुक्ति पार्टी शामिल हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here